डॉक्सऐप और डिजिटल इंडिया की मदद से भारतीय करेंगे विशेषज्ञ डॉक्टर से परामर्श केवल 8 मिनटों में

दिल्ली। कैसा लगता है उन दिनों को याद कर के, जब बीमार हो जाना एक बड़ी समस्या लगती थी। क्यों की डॉक्टर की अपॉइंटमेंट के लिए घंटों लम्बी कतारों में लगना पड़ता था और घर से मीलों दूर जाना पड़ता था, लेकिन अब डिजिटल जमाने में विशेषज्ञ डॉक्टर से इलाज पाना केवल कुछ मिनटों का सिलसिला बन चुका है। डॉक्सऐप, भारत की सर्वश्रेष्ठ ऑनलाइन मेडिकल परामर्श ऐप के जरिए देश के कोने कोने में बैठे लोग घर बैठे ही अपनी बीमारियों का इलाज पा रहे हैं।
हाल ही में डॉक्सऐप ने 10 लाख परामर्श पूरे किए हैं। रोजाना 3,000 से ज़्यादा मरीज डॉक्सऐप की मदद से 19 विभागों के विशेषज्ञ डॉक्टरों से परामर्श कर पाते हैं। डॉक्सऐप के लगभग 50% उपयोगकर्ता दूसरी और तीसरी श्रेणी के शहरों से हैं, जिनके लिए अच्छे डॉक्टर का नजदीक में मिल पाना एक सपने जैसा है। डॉक्सऐप के साथ 3000 से अधिक डॉक्टर जुड़े हुए हैं, जो एक से अधिक भाषाओं को बोलने में समर्थ हैं और इसी कारण डॉक्सऐप क्षेत्रीय मरीजों से जुड़ने में भी सफल हुआ, यही नहीं अब डॉक्सऐप की ऐप हिंदी में भी इस्तेमाल की जा सकती है ताकि लोगों को भाषा की वजह से किसी परेशानी का सामना ना करना पड़े। केवल 8 मिनटों के भीतर डॉक्सऐप ने विशेषज्ञ डॉक्टरों से 80% परामर्शों को अंजाम दिया है। यही नहीं डॉक्सऐप पर लिए गए परामर्श 100% गुप्त रखे जाते हैं, उपयोगकर्ताओं से संबंधित किसी भी प्रकार की जानकारी पूरी सुरक्षित रखी जाती है।
इस पर सी.ई.ओ और डॉक्सऐप के सह-संस्थापक सतीश कनन का कहना है कि- “दूसरी और तीसरी श्रेणी के शहरों में लोग लगभग 8-10 घंटों बाद डॉक्टर से परामर्श कर पाते हैं, डॉक्टर तक आना जाना, क्लिनिक के बाहर लम्बी कतारों में इंतजार करना और फिर जाकर हो पाती है डॉक्टर से बात। मिनटों के हिसाब से बात की जाए तो लगभग 600 मिनट लेकिन डॉक्सऐप की मदद से यही काम अब केवल 8 मिनट में मुमकिन हुआ वो भी घर बैठे-बैठे। हमारी कोशिश यही है कि हम कम समय में ज़्यादा से ज़्यादा देश के किसी भी कोने में बैठे मरीजों की बात डॉक्टर से करा पाएं। शुरुआत, दिन के 25 परामर्शों से हुई थी और आज 10 लाख परामर्श पूरे हो चुके हैं और यह सब टेक्नोलॉजी और इंटरनेट के बढ़ते इस्तेमाल की वजह से ही मुमकिन हो पाया है। डॉक्सऐप का लक्ष्य है देशभर के लोगों की मदद करना”।
डॉक्सऐप अपने क्षेत्र में एक उदाहरण है जो वर्ल्ड हैल्थ संस्था के तीन ‘ए’ में विश्वास रखता है – अवेलेबिलिटी, अफ्फोर्डेबिलिटी और अस्सेसिबिलिटी। डॉक्सऐप एक मात्र आई.एस.ओ प्रमाणित डॉक्टर ऐप है जो रोजाना 3000 परामर्श पूरे करने में सफल रहती है। डॉक्सऐप का अगला लक्ष्य है कि वह 2018 के अंत तक रोजाना 10,000 परामर्श उपलब्ध करा पाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *