चिंट इण्डिया ने आयोजित किया ‘‘न्यू स्टैप लाॅन्च समारोह’’

नई दिल्ली। तेजी से बढ़ते कारोबार के साथ चिंट इण्डिया अपने अगले कदम के लिए तैयार है। चिंट इण्डिया ने मयूर विहार के क्राउन प्लाजा में ‘न्यू स्टैप लाॅन्च समारोह’ का आयोजन किया। इस मौके पर भारतीय बाजार के लिए रणनीतियों एवं गोदाम की स्थापना का ऐलान किया गया। चिंट की भारतीय सब्सिडरी की स्थापना 2010 में की गई। पिछले सालों के दौरान चिंट इण्डिया ने भारतीय उपभोक्ताओं जैसे एनटीपीसी आईबीपीआईएल और टाटा पावर को कई सेगमेन्ट्स- एलवी, एमवी, एचवी, आॅटोमेशन, सोलर और पावर उपकरणों में समेकित समाधान उपलब्ध कराए हैं।
इस मौके पर लिजी झैंग, वाईस प्रेजीडेन्ट, चिंट इण्डिया ने कहा, ‘‘आप सभी का धन्यवाद कि आपने अपना कीमती समय निकाल इस कार्यक्रम में हिस्सा लिया है। जैसा कि हम सभी जानते हैं कि आज भारत विकास के पथ पर तेजी से आगे बढ़ रहा है और भारत सरकार देश में विकास को प्रोत्साहित करने के लिए ‘स्मार्ट सिटी’ एवं 5 ओद्यौगिक काॅरिडोर जैसी परियोजनाओं को अंजाम दे रही है। बड़ी संख्या में विश्वस्तरीय कंपनियां जैसे आईकेईए और वाॅलमार्ट भारत में अपना विस्तार कर रही हैं। चीन से मिले समृद्ध अनुभव के आधार पर चिंट भारत में भी इसी तरह की रणनीति को दोहराना चाहती है। हम उपभोक्ताओं को रीटेल नेटवर्क के विस्तार में मदद कर रहे हैं ताकि निर्माण, आपूर्ति केन्द्र, उत्पाद एवं विपणन केन्द्र, आफ्टर सेल्स एवं उपभोक्ता सेवा केन्द्र के रूप में भारत की क्षमता को बढ़ाया जा सके।
इसके अलावा चिंट ने विद्युत संचरण एवं वितरण, नई उर्जा एवं आॅटोमेशन के क्षेत्र में कई परियोजनाएं हासिल की हैं। 2008 के बाद से भारत की राज्य स्तरीय विद्युत कंपनियां एवं निजी युटिलिटीज चिंट के पावर ट्रांसफाॅर्मर (6.9kv – 420KV) का इस्तेमाल कर रही हैं। GETCO पावर ग्रिड में 2 220KV GIS का इस्तेमाल किया गया हैय टाटा ग्रुप ने चिंट से 110KV 90MVA खरीदा है। आॅटोमेशन की बात करें तो चिंट ने अदनी पावर कंपनी की 14 युनिट्स को इलेक्ट्रो-हाॅइड्राॅलिक कंट्रोल सिस्टम और बाय-पास आॅटोमेशन उपलब्ध कराए हैं। उर्जा क्षेत्र की बात करें तो 2017 के अंत तक चिंट पर्यावरण संरक्षण एवं उर्जा की बजत के लिए प्रतिबद्ध है। इसने दुनिया भर में 3500 मेगावाट के पावर स्टेशेन और भारत में 300 मेगावाॅट की सोलर पावर परियोजनाएं स्थापित की हैं।
चिंट की स्थापना 1984 में की गई। 2015 में नई दिल्ली में स्थापित चिंट के कार्यालय और स्थानीय टीमें अब नया रूप ले रही हैं। चिंट ग्रुप चीनी ओद्यौगिक विद्युत उपकरण उत्पादन एवं स्वच्छ उर्जा के क्षेत्र में अग्रणी बन गया है। चिंट की कुल संपत्ति USD 9.9 बिलियन (लगभग 61.5 बिलियन RMB) है। यह 2017 में US$9.7 बिलियन (60 बिलियन RMB) का राजस्व हासिल कर चुकी है और इसके 30000 से अधिक कर्मचारी हैं। यह पावर उपकरणों के ‘उत्पादन, संग्रहण, संचरण, रूपान्तरण, वितरण एवं इस्तेमाल’ की पूरी ओद्यौगिक श्रृंखला को कवर करती है तथा रेल ट्रांजिट, उर्जा उपकरणों के निर्माण, नए उर्जा संग्रहण सामग्री, एनर्जी इंटरनेट, निवेश एवं बिजनेस इन्क्यूबेटर्स में सक्रिय है। इसके उत्पादों को दुनिया भर के कई देशों और क्षेत्रों में बोचा जाता है और यह यूरोप, एशिया, मध्यपूर्व और अफ्रीका के अन्तर्राष्ट्रीय बाजार में भी प्रवेश कर चुकी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *