चिकित्सा काण्डों में न्यायिक संवेदनशीलता आवश्यक

-विमल वधावन योगाचार्य (एडवोकेट सुप्रीम कोर्ट) मानव चिकित्सा से सम्बन्धित आधुनिक विज्ञान देखने में दिन-दूनी रात-चैगुनी उन्नति करता हुआ दिखाई

Read more

राजस्थान में उठने लगी जाट मुख्यमंत्री की मांग

-रमेश सर्राफ धमोरा (स्वतंत्र पत्रकार) राजस्थान में आगामी विधानसभा चुनाव के लिये 7 दिसम्बर को वोट डाले जायेगें। सभी पार्टियां

Read more

‘मी टू’ की जगह ‘आई एम स्ट्रांग’ का अभियान चलायें

-विमल वधावन योगाचार्य (एडवोकेट सुप्रीम कोर्ट) अमेरिका की एक अभिनेत्री आलायसा मिलेनो ने अक्टूबर, 2017 में अपने एक साथी के

Read more

तारीख पे तारीख ….. तो न्यायाधीश क्या करें?

-विमल वधावन योगाचार्य (एडवोकेट सुप्रीम कोर्ट) प्रतिदिन देश की अदालतों में लाखों मुकदमें सुनवाई के लिए सूचीबद्ध होते हैं। अदालतों

Read more

कर्तव्यहीन पुत्रों की दुर्दशा निश्चित

-विमल वधावन योगाचार्य (एडवोकेट सुप्रीम कोर्ट) इंसानियत बहुत बड़ा सिद्धान्त है। मानवतावादी कानूनों और कई अन्तर्राष्ट्रीय अनुबन्धों का मूल आधार

Read more

अपराधी रिकार्ड का प्रकाशन शर्मिन्दगी पैदा करेगा

-विमल वधावन योगाचार्य एडवोकेट सुप्रीम कोर्ट भारतीय लोकतन्त्र में अपराधतंत्र की बढ़ती भागीदारी बहुत बड़ी चिन्ता का विषय बनी हुई

Read more

“मेरा रंगमंच मेरे बाह्य-जगत और अंतर-जगत के बीच का सेतु है – रतन थियम”

नई दिल्ली। रजा फाउन्डेशन और इंडिया हैबिटट सेंटर के संयुक्त तत्वावधान में ‘हबीब तनवीर मेमोरियल लेक्चर’ श्रृंखला का छठवां व्याख्यान

Read more