‘ग्रीन मेरिट अवार्ड’ गुरु नानक पब्लिक स्कूल राजोरी गार्डन के नाम

दिल्ली। ग्रीन ओ टेक इंडिया के सहयोग से किए गए पुनर्चक्रण परियोजना के माध्यम से बेकार कागजात का पुनः उपयोग करने के लिए गुरु नानक पब्लिक स्कूल राजौरी गार्डन के प्रधानाचार्य डॉ एस एस मिनहास को ग्रीन मेरिट अवार्ड से सम्मानित किया गया है। प्रिंसिपल डॉ एस एस मिनहास सच्चे पर्यावरणविद् हैं जिनकी नीतियों, कार्रवाई और दृष्टि ने छात्रों और शिक्षकों के बीच मातृ प्रकृति के संरक्षण के लिए बहुत बड़ी भूमिका निभाई है।
पर्यावरण की रक्षा और अगली पीढ़ी के लिए हरी भरी स्थायी दुनिया की स्थापना के लिए रीसाइक्लिंग की संस्कृति है। बायो डिग्रेडेबल और नॉन बायोडिग्रेडेबल कचरे के लिए अलग-अलग डस्टबिन – रेड और ग्रीन हैं। जरा सा भी कागज बर्बाद नहीं होता। श्रीमती कुलबीर कौर बख्शी पुनर्चक्रण क्लब इंचार्ज पूरी कोशिश कर रही हैं कि आम जनता को इन सर्वोत्तम प्रयासों में शामिल करने की कोशिश की जाए।
प्रधानाचार्य का कहना है, ‘बूंद से बूंद, सागर भर जाता है। इसलिए, हर प्रयास फल देता है।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *