महाराजा अग्रसेन अस्पातल में हुआ एंटी माइक्रोबाएल स्टीवर्टशिप कार्यक्रम का आयोजन

दिल्ली। पंजाबी बाग स्थित महाराजा अग्रसेन अस्पातल में आज एंटी माइक्रोबाएल स्टीवर्टशिप कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में ।डै यानी एन्टी माइक्रोबियल स्टीवर्टशिप एप के इस्तेमाल, इसके फायदे और जागरूकता पर विचार-विमर्श किया गया। इस मौके पर राज्यसभा सांसद सुशील गुप्ता ने कहा कि विश्वभर में एंटी बायोटिक्स के इस्तेमाल को कम से कम करने के लिए कई कदम उठाए जाते हैं। सांसद सुशील गुप्ता के मुताबिक महाराजा अग्रसेन अस्पताल पहला प्राइवेट अस्पताल बना है जो इसके लिए मोबाइल एप के इस्तेमाल की शुरुआत कर रहा है। माननीय सांसद महोदय के मुताबिक ‘उम्मीद है कि महाराजा अग्रसेन अस्पताल की तरह ही बाकी प्राइवेट अस्पताल और सरकारी अस्पताल इस तरह से एप का इस्तेमाल करेंगे। साथ ही दिल्ली सरकार भी इस बात पर जोर देगी की ज्यादा से ज्यादा इस एप के इस्तेमाल से फायदा लें।
इस एप के जरिये डॉक्टर्स को भी जानकारी मिल सकेगी की किस मरीज पर कौन सी एन्टी बायोटिक दवाओं का इस्तेमाल किया जा सकता है। कई मामलों में बीमार व्यक्ति की टेस्ट रिपोर्ट आते-आते 24 से 48 घण्टो का वक्त लग जाता है उसी के बाद सही इलाज शुरू होता है। एप की मदद से टेस्ट रिपोर्ट आने से पहले ही लक्षणों के आधार पर मरीज का इलाज शुरू किया जा सकेगा। सांसद डॉक्टर सुशील गुप्ता ने कार्यक्रम के दौरान सलाह भी दी कि एन्टी बायोटिक का कम से कम इस्तेमाल करना चाहिए। सुशील जी के मुताबिक ज्यादा एन्टी बायोटिक से शरीर मे प्रतिरोधक क्षमता कमजोर हो जाती है। इस मौके पर सांसद महोदय ने अपनी दिनचर्या सुधारने और आस-पास के वातावरण को स्वच्छ रखने की की भी अपील की।
अपनी बात पर जोर देते हुए माननीय सांसद ने बताया कि किस तरह से उन्होंने अपनी सांसद निधि का इस्तेमाल वातावरण संरक्षण और उद्यानों में जल व्यवस्था पर लगाया। कार्यक्रम में इस दौरान अस्पताल के अन्य पदाधिकारी, सीनियर डॉक्टर और मुख्यतः मेडिकल डायरेक्टर दीपक सिंगला जी मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *