सौन्दर्य विशेषज्ञ शहनाज हुसैन से साक्षात्कार

प्रश्न : आप अपना संक्षिप्त परिचय दें?
उत्तर : ब्रांड इंडिया की विश्व स्तर पर पहचान के लिए संघर्षरत।

प्रश्न : अगर आप सौन्दर्य विशेषज्ञ नहीं होती तो फिर क्या होती?
उत्तर : मैं अपने आपको सौन्दर्य के बाहर कल्पना भी नहीं कर सकती। सौन्दर्य मेरा कैरियर ही नहीं बल्कि मेरे जीवन का अभिन्न अंग है तथा सौन्दर्य मेरी जीवन शैली है।

प्रश्न : आपकी सफलता का रहस्य क्या है?
उत्तर : कभी हार मत मानिए तथा अपने प्रयत्न हमेशा जारी रखिए अगर आप परिश्रम करते रहेंगे तो आपको सफलता अवश्य मिलेगी। आप अपना भाग्य स्वयं बना सकते है। आप जो चाहते है वह परिश्रम के बल पर प्राप्त कर सकते है।

प्रश्न : आपकी दिनचर्या क्या रहती है ?
उत्तर : मेरी कामना है कि दिन में 24 घंटें से ज्यादा समय होता, मैं अपनी व्यवस्था की बारिकीयों में पूरी तरह उलझी रहती हूं इसलिए मैं दिन भर व्यस्त रहती हूं। वास्तव में जब मैं रोजमर्रा के काम के लिए सुबह तैयार हो रही होती हूं तभी मेरे मस्तिष्क में दिन भर की घटनाओं का कलैण्डर सामने आ जाता है। सौभाग्यवश मैं विभिन्न विद्याओं में रूचि रखती हूं इसलिए मुझे विभिन्न प्रकार के लोगों से मिलने में अत्यन्त रूचि रहती है। मैं लोगों के प्रति व्यक्तिगत दायित्वों, उपहार भेजने, फूल, कार्ड आदि भेजने के प्रति अत्यन्त संवेदनशील हूं। मेरे दिन की शुरूआत कम्पनी के प्रोडक्शन, मार्किटिंग, जनसम्पर्क, अंतर्राष्ट्रीय व्यापार आदि विभिन्न विभागों के प्रमुखों से चर्चा से शुरू होती है। विदेशी डैलीगेशन, मीडिया साक्षात्कार आदि पर मुझे फोकस देना पड़ता है। मैं कुछ समय महत्वपूर्ण पत्रों तथा ई-मेल का जवाब देने में बिताती हूं। मुझे अक्सर अवार्ड समारोह, बधाई समारोह सहित विभिन्न उत्सवों में लोगों के अनुरोध पर जाना पड़ता है, मेरे दिन की शुरूआत के वक्त भी मेरे दिमाग में अनेक विचार तथा सोच धूम रहे होते है।

प्रश्न : आपके के हिसाब से सौन्दर्य की परिभाषा क्या है?
उत्तर : सौन्दर्य को समग्र रूप से देखा जाना चाहिए। शारीरिक, मानसिक तथा अध्यात्मिक शक्तियों का समग्र रूप सम्पूर्ण सौन्दर्य को पारिभाषित करता है। सौन्दर्य शारीरिक, भावनात्मक, मानसिक तथा अध्यात्मिक गुणों का समग्र स्वरूप माना जाता है।

प्रश्न : आपकी त्वचा/बालों की सुन्दरता का मन्त्र क्या है?
उत्तर : जरूरी नहीं की आप सन्दर पैदा हो। आप सुन्दरता ग्रहण कर सकती है। त्वचा तथा बालों की सुन्दरता आपके बेहतर स्वास्थ्य में छिपी होती है आन्तरिक स्वास्थ्य तथा बाहरी सौन्दर्य एक सिक्के के दो पहलू है। अच्छा स्वास्थ्य ही एक सुन्दर महिला की प्राणशक्ति मानी जाती है। अन्दर कोई महिला आन्तरिक रूप से स्वस्थ नहीं है तो उसके चेहरे पर सुन्दरता कतई नहीं झलक सकती। अच्छे स्वास्थ्य के बल पर ही चमकदार त्वचा, काले बाल तथा छरहरा बदन पाया जा सकता है। स्वास्थ्य महिला ही रोजमर्रा की जिन्दगी के तनाव, खिंचाव तथा थकान को बेहतर तरीके से झेल सकती है। एक पौष्टिक आहार, प्रतिदिन व्यायाम पर्याप्त, नींद, स्वछन्द वातावरण, तनाव से मुक्ति तथा उचित बाहरी उपचार सुन्दरता की नींव माने जाते है।

प्रश्न : आपके सौन्दर्य प्रसाधन क्या है?
उत्तर : मैं एलोवेरा तथा नीबूं आदि से परिपूर्ण क्लीजिंग जैल जैसे आधारभूत त्वचा सौन्दर्य प्रसाधनों का उपयोग करती हूं। गुलाब जल आधारित स्किन टाॅनिक, माईस्चराईजिंग लोशन से मिश्रित क्रीम तथा नारिशिंग क्रीम मेरे रोजाना सौन्दर्य उपचार का अभिन्न अंग है।
मैं प्रतिदिन मास्क को उपयोग करना कतई नहीं भूलती। हर्बल पाउडर को दही, शहद, अण्डे के सफेद हिस्से तथा समुद्री शैवाल के मिश्रण से बने होम पैक को सौन्दर्य के लिए प्रयोग करती हूं। बालों के लिए मैं मेहन्दी, सरसो का तेल तथा हेयर क्लींजर का उपयोग करती हूं। मैं परफयूम अपने साथ लेना कतई नहीं भूलती।

प्रश्न : आप सुबह की शुरूआत कैसे करती है?
उत्तर : सुबह की भोर मेरे लिए सबसे महत्वपूर्ण है। सुबह की भोर में मैं पूरी मानसिक तथा अध्यात्मिक शान्ति के माहौल में चाय की चुस्कियों का आनन्द लेती हूं। मैं सुबह-सुबह टैलीफोन या इंटरकाॅम पर बात करना कतई पसन्द नहीं करती। इस वक्त मैं समाचार पत्रों की सुर्खियों पर मोटी-मोटी नजर देती हूं। यह पूरी तरह शांतचितता का समय होता है। जिसके बाद मीटिंग तथा अपाइंटमेंट का दौर शुरू हो जाता है। मैं सुबह की योग साधना अपनी दिनचर्या की प्राथमिकता में रखती हूं। मैं विदेश यात्रा के दौरान भी योगा तथा प्राणायाम करता करने को पूरी प्राथमिकता देती हूं क्योंकि इससे मैं तनाव मुक्त व्यस्त दिनचर्या में भी शान्त तथा तनाव मुक्त रहती हूं।

प्रश्न : सोने से पहले आप अन्तिम कार्य क्या करती हैं?
उत्तर : मैं सोने पहले चिंतन ध्यान तथा समाधि करती हूं इससे मस्तिक शांत तथा शरीर तनाव मुक्त रहता है। इससे उतेजना कम होती है तथा नींद अच्छी आती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *