जब घबराहट में छूटने लगे पसीने

-डाॅ. गौरव गुप्ता
(मनोचिकित्सक, तुलसी हेल्थ केयर नई दिल्ली)
क्या आपके साथ भी कभी ऐसा हुआ है कि आप किसी मीटिंग में है या कोई प्रेजेंटेशन दे रहे हैं या स्टेज पर हैं तो आपके पसीने छूटने लगे हों? बहुत से लोगों के साथ ये परेशानी होती है कि जब वो नर्वस या तनावग्रस्त या उत्तेजित होते हैं तो उनकी हथेलियों, माथे और अन्य भागों से पसीना निकलने लगता है। इससे न केवल उस व्यक्ति का आत्मविश्वास कम होता है, बल्कि देखने वालों पर भी उसके व्यक्तित्व को लेकर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है। जानिए क्यों होती है ये समस्या और इससे कैसे बचें?

क्यों होती है नर्वस स्वेटिंग?
जब आप नर्वस होते हैं तो आपके स्ट्रेस हाॅर्मोन एक्टिवेट हो जाते हैं। इससे आपके शरीर का तापमान और हृदय की धड़कनें बढ़ जाती हैं। मस्तिष्क में जो हाइपोथेलेमस होता है वो पसीने को नियंत्रित करता है, यह आपकी स्वेट ग्लैंड्स को संदेश भेजता हैं कि शरीर को ठंडा करने के लिए थोड़ा पसीना निकालना जरूरी है। दरअसल सिम्पैथेटिक नर्वस सिस्टम भावनात्मक सिग्नल्स को पसीने में बदल देता है। आप इस प्रक्रिया को नियंत्रित नहीं कर सकते, आप केवल ये कर सकते हैं कि इसके ट्रिगरों से बच सकते हैं।

कैसे बचें?

  • परेशान न हों
    घबराएं नहीं, इससे आपकी परेशानी और बढ़ जाएगी। घबराहट में सांसें तेज-तेज चलने लगती हैं, रक्त का प्रवाह बढ़ जाता है, जिससे और अधिक पसीना निकलने लगता है।
  • रिलैक्सेशन और मेडिटेशन
    अगर आपको लगता है कि आपके दिल की धड़कनें तेज हो गईं हों तो थोड़ा रिलैक्स हो जाएं। आप अपनी ब्रीदिंग पर फोकस करें। थोड़े शांत हो जाएं, गहरी सांस लें। हृदय की धड़कनों को धीमा होने दें।
  • नियमित रूप से एक्सरसाइज करें
    जो लोग नियमित रूप से एक्सरसाइज करते हैं, उन्हें तनाव कम होता है, वजन भी कम होता है और आत्मविश्वास बढ़ता है। आप जितने अधिक आत्मविश्वासी होंगे उतना संभावित तनावपूर्ण स्थितियों को बेहतर तरीके से हैंडल कर पाएंगे।
  • अपने स्वेट ट्रिगर को पहचानें
    कुछ चीजें अत्यधिक स्वेट को ट्रिगर करती हैं। अगर आपको इन ट्रिगर्स के बारे में पता होगा तो आप उन स्थितियों से बच जाएंगे। तनावपूर्ण स्थिति में कैफीन, अल्कोहल, मसालेदार भोजन, जंक फूड्स के सेवन से बचें।
  • शरीर में जल का स्तर बनाए रखें
    अपने शरीर का तापमान कम रखने के लिए पानी अधिक पिएं। ये आपके शरीर में उष्मा की मात्रा कम करेगा, अधिक उष्मा को आपका शरीर त्वचा से पसीने के रूप में बाहर निकालता है।
  • एंटीपर्सपिरेंट इस्तेमाल करें
    डियोडोरेंट तो केवल पसीने की बदबू मिटाता है, लेकिन एंटीपर्सपिरेंट में पसीने को ब्लॉक करने की क्षमता होती है। अगर आपको नर्वस, स्ट्रेस या एंग्जाइटी स्वेट की समस्या है तो एंटीपर्सपिरेंट लगाएं। यदि आपको हथेलियों में पसीना ज्यादा आता है तो हैंड एंटीपर्सपिरेंट का इस्तेमाल करें।
  • पहनावे का ध्यान रखें
    ऐसे कपड़े न पहनें जिसके कारण बहुत पसीना आए। हल्के रंग के ढीले कपड़े पहनें। फैब्रिक ऐसा हो कि आपकी त्वचा को सांस लेने का अवसर मिले।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *