मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने ‘देवभूमि डायलॉग’ अभियान की शुरुआत की

देहरादून। युवाओं से सीधा संपर्क स्थापित करने के लिए एक अनूठी पहल करते हुए उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने अपने आधिकारिक आवास से ‘देवभूमि डायलॉग’ अभियान की शुरुआत की। उन्होंने युवाओं से लगन, काबिलियत व मेहनत के बल पर स्वरोजगार की दिशा में कदम बढ़ाने का आह्वान किया।
इस मौके पर युवाओं को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री रावत ने कहा, ‘‘नौकरियां सीमित हैं और अब स्वरोजगार के मौके ढूंढने का समय है। आपको खुद अपनी क्षमताएं पहचाननी होंगी और उसी के अनुसार स्वरोजगार के मौके तलाशने होंगे।’’ उन्होंने कहा कि केवल स्वरोजगार के अवसरों की तलाश से ही राज्य के दूरस्थ पहाड़ी क्षेत्रों में लंबे समय से चली आ रही पलायन की समस्या पर अंकुश लगाया जा सकता है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि इस कार्यक्रम में युवाओं द्वारा दिये गये अमूल्य सुझावों को राज्य सरकार द्वारा भविष्य में बनायी जाने वाली नीतियों में शामिल किया जायेगा। मुख्यमंत्री के मीडिया सलाहकार रमेश भट्ट ने बताया कि इस प्रकार के कार्यक्रम करने का विचार हाल में किये गये एक अन्य कार्यक्रम श्आपकी राय, आपका बजटश् की सफलता से प्रेरित होकर किया गया। मुख्यमंत्री इस मौके पर स्वरोजगार की दिशा में पहल करने वाले युवाओं के अनुभवों एवं सुझावों से रूबरू हुए। रावत ने उन्हें स्मृति चिह्न एवं प्रशस्ति पत्र प्रदान कर सम्मानित किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *