पोकर युग शुरू होने जा रहा है

नई दिल्ली। पोकर का खेल धीरे-धीरे भाग्य के खेल के बजाय कौशल के खेल के रूप में देश में स्वीकृति पा रहा है। इसकी बढ़ती स्वीकृति का पता इस तथ्य से चलता है कि बहुत से खेल-प्रेमियों को यह महसूस हो रहा है कि यह खेल सिर्फ भाग्य से नहीं है बल्कि कौशल से जुड़ा है। यह भाग्य से कहीं ज्यादा है। इस खेल में एक विशेषता है जिसमें विभिन्न तकनीकों में निपुण होना शामिल शामिल है और एक अच्छी रणनीति की आवश्यकता पड़ती है।
मुस्कान सेठी, जो कि भारत की पहली महिला पेशेवर पोकर खिलाड़ी और पोकरस्टार इंडिया ब्रांड एंबेस्डर, जिन्हें महिला एवं बाल विकास मंत्रालय द्वारा ‘महिला उपलब्धि पुरस्कार’ से सम्मानित किया गया का कहना है कि ‘पोकर बहुत आसान खेल है। इसमें लगातार अभ्यास, नियमित अध्ययन और समय निवेश करने की आवशयकता होती है। पोकर प्लेयर के रूप में विकसित होने के लिए सही संतुलित वातावरण होना महत्वपूर्ण है। गेम में रहने के लिए पोकर कोच, अध्ययन समूह, ब्रेन कोच और फिटनेस प्रशिक्षकों से कोई भी मदद ले सकता है। इसके लिए सख्त अनुशासित जीवनशैली का पालन करना आवशयक है। यह एक दिमागी खेल है। एक स्पष्ट विचार प्रक्रिया के साथ एक शांत मन लंबे समय तक ध्यान केंद्रित रहने के लिए अच्छी सहनशक्ति के साथ तेजी से निर्णय लेने के योग्यता सबसे महत्वपूर्ण है। एक सफल पोकर खिलाड़ी को गणित में भी तेज होने की आवश्यकता होती है। यह महत्वपूर्ण नहीं है कि आपको कार्ड जानना आवश्यक है।’
इस खेल के बारे में, पोकर खिलाड़ी और कोलकाता क्रिएटर्स के प्रबंधक आदित्य अग्रवाल का कहना है -‘पोकर एक दिमागी खेल है जो ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों खेला जाता है। यह कौशल का एक खेल है। पोकर के इस खेल में, सभी 52 कार्ड्स में से 1000 वर्चुअल जोड़े जा सकते हैं। किसी को प्रतिस्थापन और संयोजन और कुछ गणनाओं को लागू करने, प्रतिद्वंदी के कार्ड को उसके शारीरिक भाषा से पकड़ने की आवश्यकता होती है। किसी भी व्यवसाय में, किसी व्यक्ति की सही रणनीति और प्रारंभिक चरण में जोखिमों को जानने और उससे हल करने के लिए एक कुशल रणनीति की आवश्यकता होती है और यही उससे सफल बनती है। पोकर के खेल के लिए भी यही लागू होता है। कोई भी एक छोटी राशि शर्त में लगा सकते है और बिना किसी सीमा के नकद जीत सकते है।’
अंकुर दीवानी, सीईओ, सचिको गेमिंग प्राइवेट लिमिटेड ने कहा- ‘भारत में पोकरस्टार ब्रांड नाम का उपयोग करने का अधिकार रखने वाली कंपनी ने कहा, ’जीपीएल (ग्लोबल पोकर लीग) भारत दुनिया का अग्रणी पोकर लीग है। भारत पोकर प्रशंसकों और विशेषज्ञों की बढ़ती संख्या का घर है और यह उनके कौशल को बढ़ावा देने और इसे वैश्विक स्तर पर ले जाने में मदद के लिए सही मंच के साथ पेश करने का हमारा प्रयास है। भारत में पोकर उद्योग उन खिलाड़ियों को अद्वितीय अनुभव प्रदान करता है जो जीपीएल इंडिया का हिस्सा बनने के लिए पोकरस्टार डॉट इन पर जाते हैं।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *