पेटीएम ने किया हाई वैल्यू और अन्य ट्रांसफर के लिए नए ‘माई पेमेंट्स’ फीचर का लॉन्च

नई दिल्ली। वन 97 संचार लिमिटेड, जो पेटीएम ब्रांड का मालिक है, जो भारत की सबसे बड़ी भुगतान कंपनी है बहु-स्रोत और बहु गंतव्य भुगतान समाधान की पेशकश करती है, अपने ऐप पर नए ‘माई पेमेंट्स’ फीचर के साथ अपने ग्राहकों के लिए बैक ट्रांसफर को और भी एकीकृत कर दिया है। यह पेटीएम उपयोगकर्ताओं को आवर्ती, उच्च मूल्य वाले भुगतान और अन्य मासिक खर्च का तत्काल भुगतान करने में सक्षम बनाएगा। पीटीएम ऐप का उपयोग करके, किसी भी बैंक खाते से किसी भी बैंक खाते में बैंक ट्रांसफर किया जा सकता है, जिससे ग्राहकों को 0 प्रतिषत शुल्क पर भुगतान करना आसान हो जाता है। यहां तक कि गैर-केवाईसी पेटीएम उपयोगकर्ता भी इस सुविधा का लाभ उठा सकते हैं।
अपने बहुभाषी ऐप में इस नई जोड़ी गयी सुविधा के साथ, कंपनी को अपने प्लेटफॉर्म पर बैंक ट्रांसफर लेनदेन में पर्याप्त वृद्धि होने का विश्वास है। पेटीएम इस साल के अंत तक अकेले मासिक बैंक ट्रांसफर में 60,000 करोड़ रुपये संसाधित करने का लक्ष्य रख रहा है। यह अपने ग्राहकों को घर के किराए, व्यापारिक भुगतान, शुल्क, वेतन और पीयर-टू-पीयर भुगतान जैसे विभिन्न प्रकार के नियमित उपयोग के मामलों के लिए, अपने बैंक खातों को जोड़ने और तत्काल और सुरक्षित बैंक ट्रांसफर का अनुभव करने के लिए आक्रामक रूप से शिक्षित कर रहा है, जबकि यह सभी भुगतानों और बैंक ट्रांसफर आवश्यकताओं के लिए एकल समाधान के रूप में उभर रहा है। कंपनी अपने कोर बिजनेस में 5000 करोड़ रुपये निवेश करने की भी योजना बना रही है, इस साल लेनदेन की संख्या 1 बिलियन से बढ़ कर 2 बिलियन तक होने की उम्मीद कर रही है।
पेटीएम के वरिष्ठ उपाध्यक्ष, दीपक अब्बोट ने कहा, ‘हमारे ग्राहकों के घर के किराए, नौकरों/ चालकों के वेतन, दूध या समाचार पत्र विक्रेता को भुगतान के रूप में आवर्ती भुगतान करना होता है। इससे हमारी बैंक ट्रांसफर सेवा में बहुत वृद्धि हुई है। हमने अब ‘माई पेमेंट्स’ के साथ इन भुगतानों को सरल बना दिया है और कैशलेस भुगतान होने के पक्ष में उपभोक्ता व्यवहार में इस तेजी से बदलाव में 6 गुने बढ़ोतरी की उम्मीद कर रहे हैं। हमारे उपयोगकर्ता समझते हैं कि पेटीएम सिर्फ एक डिजिटल वॉलेट कंपनी से अधिक है और हम उपयोगकर्ताओं को ऐसी सुविधा के बारे में बताते हुए अधिक ग्राहक-केंद्रित सुविधाओं को जोड़ना जारी रखेंगे जिसका वे रोजाना उपयोग करके अनुभव कर सकते हैं।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *