प्रगति मैदान में होटल के लिये मंत्रिमंडल से संपर्क करेगा आईटीपीओ

नयी दिल्ली। वाणिज्य मंत्रालय के अंतर्गत 14 नवंबर से षुरू होने वाला इंडिया ट्रेड प्रमोशन आर्गनाइजेशन (आईटीपीओ) प्रगति मैदान में होटल के निर्माण के लिये केंद्रीय मंत्रिमंडल से मंजूरी के लिये संपर्क करेगा। जमीन को होटल निर्माण के लिये दीर्घकालीन पट्टा आधार पर बाजार में चढ़ाया जाएगा।
वर्ष 1977 में गठित आईटीपीओ व्यापार संवर्द्धन की नोडल एजेंसी है जो वाणिज्य मंत्रालय के अधीन काम करता है। मंत्रालय के एक अधिकारी का कहना है कि ‘हम मंत्रिमंडल में जाएंगे और इस बारे में मंजूरी लेंगे। जमीन को होटल निर्माण के लिये दीर्घकालीन पट्टा आधार पर बाजार में चढ़ाया जाएगा। इससे प्रगति मैदान में बनने वाले प्रदर्शनी-सह-सम्मेलन केंद्र का मूल्य संवर्द्धन होगा।’ लग्जरी होटल निर्माण के लिए करीब 3.7 एकड़ जमीन दीर्घकालीन आधार पर पट्टे या फ्री होल्ड पर निजी कंपनी को दी जाएगी। प्रगति मैदान की पुनर्विकास योजना के तहत वैश्विक स्तर का एकीकृत प्रदर्शनी सह सम्मेलन केंद्र निर्माणधीन है। इस पर 2,254 करोड़ रुपये की लागत अनुमानित है।
सम्मेलन केंद्र में 7,000 से अधिक लोगों के बैठने की क्षमता होगी। आईटीपीओ के चेयरमैन और प्रबंध निदेशक एल सी गोयल ने कहा कि होटल के निर्माण के बाद प्रदर्शनी और सम्मेलन के लिहाज से यह बेहतरीन जगह होगी। उन्होंने कहा, ‘इससे वैश्विक सम्मेलन भी यहां हो होंगे। हम कुछ निजी कंपनी को जमीन देने के बारे में मंत्रिमंडल से मंजूरी लेने की प्रक्रिया में है।’ दुनिया भर में बैठक, सम्मेलन और प्रदर्शनी उद्योग एक बड़ा कारोबार है और रोजगार सृजन तथा पर्यटन क्षेत्र को बढ़ावा देने में मदद करता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *