मैपल असिस्ट ऐप को कनाडा के मंत्री नवदीप बैंस ने दिल्ली में किया लॉन्च

नई दिल्ली। मैपल असिस्ट इंक – ने शानदार मोबाइल एप्लिकेशन लॉन्च किया है। यह उन सभी स्टूडेंट्स के लिए वन स्टॉप सोल्यूशन होगा, जो कनाडा में हायर स्टडीज में दिलचस्पी रखते हैं। इससे छात्रों को कनाडा के कॉलेजों और यूनिवर्सिटी के संबंध में वह सारी जानकारी मिलेगी, जो वह जानना चाहते हैं। यह ऐप भारत में विकसित किया गया। मैपल असिस्ट ऐप को ओंटारियो के 4 प्रमुख कॉलेजों, डरहम कॉलेज, फैनशॉव कॉलेज, जार्जियन कॉलेज और सेंट क्लेयर कॉलेज का समर्थन हासिल है। कनाडा में पढ़ने की इच्छा रखने वाले 1 लाख से ज्यादा विदेशी स्टूडेंट्स तक इस ऐप के पहुंचने की संभावना है, जिसमें भारत, चीन,फिलीपींस, जापान, ब्राजील और मैक्सिको के छात्र शामिल हैं। इस नए वेंचर को स्कॉटिया बैंक, एयर इंडिया, एचडीएफसी क्रेडिलिया और इंडो-कनाडियन बिजनेस चैंबर (आईसीबीसी) का भी सपोर्ट हासिल है। मैपल ऐप को कनाडा के इनोवेशन, साइंस और इकनॉमिक डिवेलपमेंट मंत्री श्री नवदीप बैंस ने लॉन्च किया।
ऐप के लॉन्चिंग कनाडा के मंत्री नवदीप बैंस ने दिल्ली में किया और समारोह की शुरुआत एक प्रेजेंटेशन से की गई, जिसमें यह दिखाया गया कि यह ऐप कैसे काम करता है और कैसे इस ऐप को बनाया गयाद्य ऐप की लॉन्चिंग पर बताया गया कि यह ऐप कनाडा के एजुकेशन मार्केट में बहुत बड़े गैप को भरने और खाई को पाटने का काम करेगा। यह ऐप कनाडा में पढ़ाई की इच्छा रखने वाले संभावित स्टूडेंट्स को कनाडा के कॉलेजों और यूनिवर्सिटी से जोड़ेगा। इस अवसर पर फैनशॉव कॉलेज में इंटरनेशनल रिक्रूटमेंट एंड मार्केट डिवेलपमेंट के मैनेजर और ऐप के पहले एडॉप्टर सौरभ मल्होत्रा ने ऐप के फीचर्स का विस्तृत विवरण पेश किया।
लॉन्चिंग समारोह में जॉर्जियन कॉलेज में इंटरनेशनल, वर्कफोर्स डिवेलपमेंट और पार्टनरशिप के वाइस प्रेसिडेंट श्री केविन वीवर और डरहम कॉलेज में इंटरनेशनल एजुकेशन के डीन श्री मार्क हैरिंगर ने उपस्थित लोगों को संबोधित किया। वह इस सर्विस को जॉइन करने के प्रति काफी उत्साहित नजर आए। वीवर ने कहा कि यह ऐप कनाडा में सही स्टूडेंट्स को सही कॉलेजों में सही प्रोग्राम से जोड़ेगा। इस अवसर पर एयर कनाडा के कंट्री हेड श्री अरुण पांड्या, आईसीबीसी की सीईओ नादिरा हमीद और एचडीएफसी क्रेडिलिया के कंट्री सेल्स मैनेजर श्री हितेश पाराशर भी मौजूद थे। कनाडा में भारतीय दूतावास का प्रतिनिधित्व श्री अनुज भसीन ने किया, जो कनाडा दूतावास में ट्रेड कमिश्नर फॉर एजुकेशन है। गणमान्य अतिथियों में काउंसलर (इकनॉमिक अफेयर्स-ओंटोरियो) मिस टैरी रोमानो और माइग्रेशन सेक्शन की सीनियर इमिग्रेशन ऑफिसर मिस करोल स्यॉव भी उपस्थित थे।
मैपल असिस्ट ऐप के संस्थापक और सीईओ और इस ऐप के पीछे की ड्राइविंग फोर्स रहे विनय चैधरी ने कहा कि कनाडा में खुद इंटरनेशनल स्टूडेंट होने के नाते उन्होंने विदेश में शिक्षा ग्रहण करने के तनाव को काफी झेला है, जब वह कनाडा की कॉलेज लाइफ में खुद को सेटल करने की कोशिश कर रहे थे। उन्होंने कहा कि मैपल असिस्ट ऐप कनाडा में पढ़ने की इच्छा रखनेवाले दुनिया भर के संभावित स्टूडेंट्स को तनाव मुक्त और सुहाने सफर के लिए सारी जानकारी उनकी फिंगर टिप्स पर मुहैया कराएगा। उम्मीद है कि मैपल असिस्ट ऐप आने वाले सालों में कनाडा के कई और कॉलेजों और यूनिवर्सिटीज को अपना साझीदार बनाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *