लॉयड में जीआइसी रे का सिंडीकेट अप्रैल 2018 से परिचालन आरंभ करेगा

नई दिल्ली। दिसंबर 2017 में, लॉयड के फ्रैंचाइजी बोर्ड ने ‘जीआइसी सिंडीकेट 1947‘ का निर्माण करने के लिए जीआइसी को सैद्धांतिक मंजूरी दी थी। लॉयड के सहमत बिजनेस प्लान के अनुसार ‘जीआइसी सिंडीकेट 1947‘ को अप्रैल 2018 से परिचालन आरंभ करने की मंजूरी मिल चुकी है।
‘जीआइसी सिंडीकेट 1947‘लॉयड का पहला सिंडीकेट है जिसे पूरी तरह से भारतीय रिइंश्योरेंस ग्रुप से पूंजी का समर्थन मिलेगा। जीआइसी रे भारत और सार्क क्षेत्र में बाजरा अग्रणी है जो 45 वर्षों से अधिक समय से अस्तित्व में है। पेमब्रोक, लिबर्टी म्यूचुअल कंपनी जोकि लॉयड की मैनेजिंग एजेंसी सेवा की विशेषज्ञ प्रदाता है, ‘जीआइसी सिंडीकेट 1947‘ को प्रबंधित करेगी।
नील एटवुड को ‘जीआइसी सिंडीकेट 1947‘ का ऐक्टिव अंडरराइटर नियुक्त किया गया है। सिंडीकेट के जरिये, अपनी वैश्विक पहुंच बढ़ाने के अलावा, जीआइसी रे लॉयड, विशेषज्ञ बीमा के लिए दुनिया का अग्रणी बाजार, में अपने समकक्षों के साथ बेंचमार्क भी करेगा। भारत और अन्य वैश्विक बाजारों में जीआइसी रे की अंडरराइटिंग एवं वितरण क्षमता के साथ स्पेश्यिलिटी लाइंस में पेमब्रोक की विशेषज्ञता लॉयड के बाजार में जीआइसी रे, पेमब्रोक और अन्य प्रतिभागियों के लिए कारोबारी अवसरों को विकसित करेगी।
सितंबर 2017 में स्टैंडर्ड एंड पुअर्स के प्रकाशन में जीआइसी रे शीर्ष 40 वैश्विक रिइंश्योरर्स में 12वें पायदान पर है। वैश्विक रेटिंग एजेंसी ए.एम. बेस्ट ने 28 फरवरी 2018 को ए- (उत्कृष्ट) की फाइनेंशियल स्ट्रेन्थ रेटिंग की पुष्टि की है। वहीं भारतीय साधारण बीमा निगम को स्थिर परिदृश्य के साथ ‘‘-ए‘‘ की दीर्घकालिक इश्युअर क्रेडिट रेंटिंग प्रदान की गई है। यह रेटिंग्स जीआइसी रे की भारत में सुदृढ़ बाजार स्थिति को दर्शाती है और साथ ही इसके भौगोलिक रूप से विविधीकृत अंडरराइटिंग पोर्टफोलियो पर जोर देती है जिसकी पहुंच भारत के बाहर कई व्यावसायों तक है। रेटिंग की प्रतिपुष्टि में भारत में इसके बड़ी पूंजी और सरप्लस, बैलेंस शीट विकास, अनुकूल बिजनेस प्रोफाइल और उचित एंटरप्राइज जोखिम प्रबंधन पर विचार किया गया है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *