आईटीडीसी ने स्वास्थ्य प्रोटोकॉल को सुदृढ़ करने के लिए एम्स, नई दिल्ली के साथ समझौता-ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए

नई दिल्ली। भारत पर्यटन विकास निगम लिमिटेड (आईटीडीसी), पर्यटन मंत्रालय, भारत सरकार के तत्वावधान में सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम (पीएसयू) ने एम्स, नई दिल्ली के साथ मिलकर और कोविड-19 के संक्रमण को रोकने के लिए स्थिति की निगरानी करने और आईटीडीसी द्वारा अपने होटलों और कार्यालयों में अतिथियों और कर्मचारियों को सुरक्षित, स्वच्छ और स्वस्थ वातावरण प्रदान करने के लिए निवारात्मक उपायों को क्रियान्वित करने के लिए समझौता-ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए हैं।
श्री प्रहलाद सिंह पटेल, माननीय केंद्रीय पर्यटन और संस्कृति राज्य मंत्री ने समझौता-ज्ञापन के विषय में बात करते हुए कहा, “आईटीडीसी और एम्स के बीच कोविड-19 की लड़ाई लड़ने के लिए समझौता-ज्ञापन, आईटीडीसी द्वारा उठाया गया सराहनीय और प्रशंसनीय कदम है। हमें अपने डर पर जीत हासिल करने और पर्यटन उद्योग, जो देश के सकल घरेलू उत्पाद में प्रमुख योगदानकर्ताओं में से एक है, को पुनर्जीवित करने के लिए हर संभव प्रयास करने की आवश्यकता है। आईटीडीसी का यह कदम, अंतरराष्ट्रीय और साथ ही घरेलू पर्यटकों के विश्वास और भरोसे के पुनर्निर्माण में सहायक होगा।”
इसके अतिरिक्त, माननीय मंत्री जी ने कहा “जारी महामारी का यात्रा और पर्यटन उद्योग पर गंभीर प्रभाव पड़ा है। एम्स, नई दिल्ली के साथ समझौता-ज्ञापन इस स्थिति की निगरानी और महामारी से लड़ने के लिए आवश्यक उपाय करने में मदद करेगा। पर्यटन क्षेत्र नौकरियों के सृजन के साथ-साथ भारत के सकल घरेलू उत्पाद में अत्यधिक योगदान देता है, अतः यह अनिवार्य है कि काम में वापसी के लिए इस क्षेत्र की तैयारी और तत्परता सुनिश्चित की जाए।”
इसे आगे बढ़ाते हुए, वर्तमान और जारी स्थिति के आधार पर और साथ ही वास्तविक समय के आधार पर, कोविड-19 के संक्रमण के संबंध में सुरक्षा प्रोटोकॉल को तैयार करने और विकसित करने पर इनपुट प्रदान करने के लिए एम्स, आईटीडीसी और /अथवा किसी अन्य संगठन के प्रतिनिधियों का एक सलाहकार बोर्ड बनाया जाएगा। यह घरेलू पर्यटन में विश्वास और भरोसा पैदा करने में मदद करेगा और अंतरराष्ट्रीय पर्यटकों और यात्रियों के लिए राष्ट्र की छवि निर्माण में भी सहायक होगा।
ये उपाय, भारत सरकार द्वारा जारी दिशानिर्देशों के पालन के साथ-साथ स्थिति को प्रभावी रूप से संभालने के लिए होटल के फ्रंट कार्यालय, अतिथि संबंध, हाउसकीपिंग, खाद्य व पेय आदि क्षेत्रों के 1000 से अधिक कर्मचारियों को प्रदान किए गए व्यापक प्रशिक्षण के अतिरिक्त किए गए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *