रॉय कपूर फिल्म्स कि अगली सिरीज विलियम डेलरिम्पल कि बेस्टसेलर, ‘द एनार्की’ पर आधारित होगी

सिद्धार्थ रॉय कपूर के प्रोडक्शन ‘रॉय कपूर फिल्म्स’ ने हाल ही में अवार्ड विनिंग इतिहासकार और लेखक विलियम डेलरिम्पल की बेस्ट सेलिंग हिस्टोरिकल बुक ‘द अनार्की: द रिलेंटलेस राइज ऑफ द ईस्ट इंडिया कंपनी’ के आधिकारिक राइट्स हासिल कर इसे सीरीज के रूप में माउंट करने की योजना बनाई है।
अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा ने 2019 में ‘द अनार्की’ को उनके द्वारा अनुशंसित टॉप टेन बुक कि लिस्ट में शामिल किया था। १५९९ से लेकर १८०२ तक की अवधि को शामिल कर ‘द अनार्की’ ने मुगल साम्राज्य के पतन के खिलाफ द ईस्ट इंडिया कंपनी के अथक उदय को दर्शाता है। यह उल्लेखनीय है की किस तरह लंदन के अनिर्वाचिन पांच खिड़कियों वाली ईमारत से तीस लोगों ने मिलकर इस प्रादेशिक व्यवसाय की शुरुआत की और पूरे उप-महाद्वीप के शासक बन गए साथ ही साथ दुनिया के इतिहास में सबसे अमीर और सबसे शक्तिशाली साम्राज्य की स्थापना भी की। विश्व स्तर पर उपनिवेशवाद पर चर्चा के साथ, भारत में ब्रिटिश शासन के इतिहास का वर्णन करना अब सबसे महत्वपूर्ण है।
‘द अनार्की’ के रिलीज होने के बाद इंटरनेशनल समीक्षकों ने इसे रेव रिव्यू दिए, ‘द टेलीग्राफ ने ‘द ईस्ट इंडिया कंपनी के इतिहास को’ एक टूर-डे-फोर्स कहा है, गार्डियन ने अपने आर्टिकल के द्वारा यह बताया था कि इस पुस्तक की वास्तविक उपलब्धि न सिर्फ उनके पाठकों को ब्रिटिश और दक्षिण एशिया के महत्वपूर्ण इतिहास और उपेक्षित अवधि में वापिस ले गया है बल्कि उनकी यात्रा को जानकारीपूर्ण और मनोरंजक भी बनाया है, किसी महल में एक शाम, कविता और संगीत का आयोजन कर दिया गया हो। द न्यूयॉर्क टाइम्स का मानना है कि यह बुक एक उदाहरण है की जब एक कॉर्पोरेट लीडर की शालीनता में कमी होती है तो चीज गलत हो सकती हैं कहिये बहुत ज्यादा गलत हो सकती है।’
रॉय कपूर, लेखकों और श्रोताओं की एक विविध अंतरराष्ट्रीय टीम को एक साथ लाना चाहते हैं जो इसे बेहतरीन और उच्चतम स्तर पर बना सके। मेरा मानना है कि ‘जो कहानियाँ सम्मोहक, प्रासंगिक और प्रामाणिक होती हैं, उनमें सभी राष्ट्रीयताओं और संस्कृतियों के दर्शकों के साथ प्रतिध्वनित करने की क्षमता होती है और विलियम डेलरिम्पल की द ईस्ट इंडिया कंपनी की महाकाव्य ऐसी ही कहानियों में से एक है। जबकि आज दुनिया भर में इस बात पर बहस छिड़ी हुई है कि बड़ी बड़ी कंपनियां और शक्तिशाली व्यक्ति मन और राष्ट्र पर नियंत्रण रखना चाहते हैं, वैश्विक दर्शकों के लिए इससे अधिक प्रासंगिक क्या हो सकता है कि वे एक सच्ची कहानी देखेंगे कि कैसे एक छोटी सी ट्रेडिंग कंपनी ने सम्पूर्ण उपमहाद्वीप को नियंत्रण में कर लिया था। हमें खुशी है कि हम विलियम के साथ मिलकर इन अविश्वस्नीय पात्रों की आकर्षक झांकी को जीवंत करेंगे जहां, पर सभी ने सबसे अमीर उपमहाद्वीप पर प्रभुत्व जमाने के लिए एक दूसरे का साथ निभाया है।’
लेखक विलियम डेलरिम्पल जो इस प्रोजेक्ट से एक सलाहकार के रूप में जुड़े हुए हैं उनका मानना है ‘मुझे लगता है कि ‘द अनार्की’ सबसे उचित किताब होगी एक सिरीज के रूप में रूपांतरित करने के लिए और भारत में सिद्धार्थ रॉय कपूर से बेहतर कोई और बना ही नहीं सकता। इसकी शुरूआती नोट को जिस तरह से तैयार किया गया है उसे देखकर मैं बेहद उत्साहित हूं जहां इस किताब को पुनर्जीवित करने की बात बताई गई है। इसके किरदारों के साथ मैं पिछले 6 साल से पर्दे पर हूं ताकि सभी लोग इसे हाड़-मांस के रूप में देख सकें। ये बेहद अतुलनीय और रोमांचित कर देने वाला पल है और मुझे इस प्रोजेक्ट से काफी उम्मीदें हैं।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *