खाने के शौकीनों के लिए सागर रत्ना का नया समकालीन आउटलेट सरोजनी नगर में

32 साल पहले जयराम बनन ने डिफेंस कॉलनी बाजार में पहले दक्षिण भारतीय शाकाहारी रेस्त्रां सागर रत्ना की साधारण शुरुआत की थी। आज उनका कद काफी बढ़ गया है क्योंकि निर्विवाद दोसा किंग सबसे ऊपर हैं और 12 राज्यों में उनके 90 से ज्यादा आउटलेट हैं। सागर रत्ना ने अब एक नया आउटलेट सरोजनी नगर में खोला है जो डीएलएफ साउथ स्क्वैयर के भूतल पर स्थित है। सरोजनी नगर स्थित यह नया सागर रत्ना 150 कवर रेस्त्रां है जो 4500 वर्ग फीट के क्षेत्र में बैठा है। इसमें रेस्त्रां के साथ करीब 40 लोगों के लिए एक पार्टी एरिया है। रेस्त्रां देखने में आधुनिक और समकालीन लगता है तथा अच्छे से रंगी इसकी दीवारों पर भिन्न कलाकृत्रियां और आकृतियां हैं।
खाने के शौकीनों को इस रेस्त्रां में भिन्न किस्म के दक्षिण भारतीय व्यंजन परोसे जाते हैं। इनमें कई तरह के डोसा, वड़ा, इडली, उत्थपम शामिल हैं जो शुद्ध तेल और घी में पकाये जाते हैं। चटनी, साम्बर और रसम में मसालों और अवयवों का सही अनुपात होता है जो हर किसी को पसंद आता है। थाली भिन्न सब्जियों के मेल का मुंह में पानी लाने वाला कौम्बो है। इसके साथ अचार, मीठा दही और करारे पापड़ परोसे जाते हैं। नया आउटलेट नई तैयारियों के साथ नई चीजें परोसेगा। इनमें इडली चाट, चेट्टीनाड मसाला डोसा, वेजीटेबल चीज डोसा और पोडी इडली, नल्ला करम तथा नुगुलू शामिल है।
खाने के शौकीनों में इडली चाट सबसे ज्यादा पसंद किया जाने वाला आयटम है। ये छोटे आकार की करारी इडली है जिसे मीठे दही में डुबाया जाता है। इसे भुन कर पीसे हुए जीरा, पुदीने की चटनी, इमली सोंठ की परंपरागत चटनी, बूंदी और अनार के दाने से सजाया जाता है। दूसरा अभिनव व्यंजन चेट्टीनाड मसाला डोसा है जो डोसा के मेल में ट्विस्ट है। इसे देसी घी और परंपरागत मसालों के पेस्ट से बनाया जाता है जिसे मध्यम आकार के दो डोसा पर फैलाया जाता है और इस तरह यह दो अलग फ्लेवर देता है। ये डोसा तीन तरह के आलू भाजी और नारियल, लाल तथा हरी चटनी तथा गर्म सांभर के साथ परोसा जाता है। वेजीटेबल चीज दोसा एक और दिलचस्प कृति है और इसे फॉनड्यू स्टाइल क्रीम चीज के मेल के साथ पेश किया जाता है जो शिमला मिर्च गाजर और प्याज से सजा होता है।
असली दक्षिण भारतीय शाकाहारी व्यंजन सागर रत्ना की सुविज्ञता रही है। फिल्टर कॉफी से उठने वाला कॉफी का नया स्वाद एक और सुविज्ञता है जो सागर रत्ना दक्षिण भारतीय घरों के पुराने निवासी के रूप में पेश करता है। यही नहीं, परंपरागत डबरा में परोसा जाना इस तैयारी के वास्तविक फ्लेवर को निखारते हैं।
सागर रत्ना आज की खासियत की पेशकश करता है जो हर दिन अलग होता है। बादाम मिल्क यहां अतिथियों के बीच कइयों का पसंदीदा है। यहां आम आदमियों से लेकर जाने-माने लोग, सब आते हैं। इनमें वीआईपी और शिखर के कॉरपोरेट घरानों के प्रमुख शामिल हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *