पीवीआर सिनेमाज में शुभारंभ के साथ दिल्ली का एमएएमआई (मुंबई एकेडमी आॅफ मूविंग इमेज) आयोजन पूरे साल चलेगा

नई दिल्ली। पीवीआर सिनेमाज में मुंबई एकेडमी आॅफ मूविंग इमेज (एमएएमआई या मामी) के साल भर चलने वाले आयोजन का दिल्ली में आरंभ हो गया है। पीवीआर लोकप्रिय एग्जीबिटर (थिएटर) है और सिनेमा से जुड़ी सभी चीजें दिखाने का महत्वपूर्ण मंच है जिसका एक शानदार इतिहास रहा है।
विश्व फिल्म निर्माण की संस्कृति पर केंद्रित यह विशाल आयोजन पूरे महानगर में होगा। दो दिन के शुभारंभ समारोह में साल की दो सबसे पसंदीदा फिल्में – वेस एंडर्सन की ‘आइल आॅफ डाॅग्स’ और एरी एस्टर की फिल्म ‘हेरिडिटरी’ इनके भारत में रिलीज होने से पहले 09 और 10 जून 2018 को दिखाई गई।
लांच पार्टी का आधिकारिक उद्घाटन अजय बिजली, प्रबंध निदेशक, पीवीआर लि. और संजीव बिजली, संयुक्त प्रबंध निदेशक, पीवीआर लि. ने किया। उनके साथ मामी बोर्ड के अन्य सदस्य – जोया अख्तर, अनुराग कश्यप, विशाल भारद्वाज और मामी की लीडरशिप टीम – अनुपमा चोपड़ा और स्मृति किरण की मौजूदगी देखी गई। इस अवसर पर कला एवं संस्कृति को बढ़ावा देने में हमेशा सबसे आगे रहे महानगर दिल्ली के लोगों को दुनिया की बेहतरीन और सबसे नई फिल्में देखने को मिली।
अजय बिजली, प्रबंध निदेशक ने कहा, ‘‘मामी का पूरे साल का आयोजन दिल्ली के दर्शकों केे लिए पूरी दुनिया की बेहतरीन फिल्में देखने के सबसे अच्छे अवसरों में एक है। इसलिए इस आयोजन में हमारा योगदान देना स्वाभाविक है। पीवीआर ने हमेशा से दर्शकों को फिल्मों की बड़ी रेंज देखने और लगाव पैदा करने को बढ़ावा दिया है। पीवीआर यह ध्यान रखता है कि फिल्म की संस्कृति से जुड़ना सभी के लिए आसान हो और सभी इसका आनंद लें। इस लांच के साथ पीवीआर का सपना फिल्म उद्योग के दिग्गजों और फिल्म के पारखी ग्राहकों को करीब लाने का है जो फिल्म देखने के विशेष आयोजनों, विचार गोष्ठियों, कार्यशालाओं और ऐसी फिल्में दिखाने से मुमकिन है जिनमें विविधता, नयापन और खास नजरिये को दिखाया जाता है। इस प्रोग्राम का मकसद फिल्म समीक्षकों की सराहना प्राप्त फिल्मकारों, इंडस्ट्री प्रोफेशनलों और पूरी दुनिया के पुरस्कृत कलाकारों को दर्शकों से रू-ब-रू करना है ताकि लोगों की जानकारी बढ़े, उन्हें नई चुनौती मिले और कल्पना की दुनिया में जाने का आनंद मिले और दुनिया का नया नजरिया बने।’’
अनुपमा चोपड़ा ने कहा, ‘‘मामी आयोजन का यह 20वां वर्ष है और मैं रोमांचित हूं। हम ने मुंबई से बाहर कदम रखा है। हमें विश्वास है कि दिल्ली में सिनेमा की सही संस्कृति का विकास होगा। हम पीवीआर के सहयोग के लिए आभारी हैं।’’
पीवीआर लिमिटेड के संयुक्त प्रबंधक संजीव कुमार बिजली ने कहा, ‘‘एमएमएमआई के साथ साझेदारी और देश की राजधानी दिल्ली में स्क्रीनिंग कार्यक्रम शुरू करना बहुत खुशी की बात है। किरण राव, अनुपमा चोपड़ा और स्मृति किरण के नेतृत्व में, एमएएमआई ने स्वयं को एक अग्रणी फिल्म उत्सव के रूप में स्थापित किया है और उसे दुनिया भर की कुछ उत्कृष्ट फिल्में प्रस्तुत करने के एक मंच के रूप में विश्व स्तर पर मान्यता प्राप्त है। रेड कार्पेट प्रीमियरों से, सावधानीपूर्वक चयनित व क्यूरेटेड फिल्मों तक, यह एक ऐसा कार्यक्रम है जिसे हर कोई देखना चाहता है। पीवीआर में, हमें इस सहयोग पर गर्व है, और इससे हमें दिल्ली में अच्छी फिल्मों को पसंद करने वाले हमारे जोशीले प्रशंसकों को ऐसी फिल्में उपलब्ध कराने की अपनी क्षमता पर आनंद की अनुभूति होती है।’’
एमएएमआई की क्रिएटिव डायरेक्टर स्मृति किरण ने कहा, ‘‘दिल्ली के फिल्म प्रेमियों को एमएएमआई ईयर राउंड कार्यक्रम प्रस्तुत करते हुए हमें अपार रोमांच महसूस हो रहा है। हमारा संकल्प सिनेमा प्रेमियों को सर्वश्रेष्ठ सिनेमा प्रस्तुत करना और शहर में एक ठोस फिल्म संस्कृति का सृजन करना है। नई अनुभूति प्रदान करने के लिए, आपको निरंतर प्रयासरत रहना और दर्शकों को जो सर्वाधिक प्रिय है – सिनेमा – उसका उत्सव मनाने, उसकी आलोचना करने, उस पर चर्चा तथा बहस और विमर्श करने में सहायता करना होता है। एमएएमआई के चैंपियन और दर्शकों की पसंद को पूरा करने तथा देश में सिनेमा प्रेमियों के लिए एक सिनेमा देखने की संस्कृति का सृजन करने में एक बार फिर हमारा साथ साथ देने को लेकर हम पीवीआर सिनेमाज का आभार प्रकट करते हैं। दिल्ली के लिए हमारे पास बड़ी योजनाएं हैं!’’
2016 में मुंबई में आरंभ मामी पूरे साल का अपनी किस्म का पहला आयोजन है जिसकी शुरुआत इस मान्यता के साथ की गई कि केवल एक सप्ताह के फिल्म फेस्टिवल पर्याप्त नहीं होते। आज एकेडमी देश के फिल्म प्रेमियों के लिए वीकली स्क्रीनिंग, वर्कशाॅप और विशेष चर्चाओं का आयोजन करता है। इससे साल में केवल एक सप्ताह नहीं बल्कि पूरे साल फिल्मों की छाप और मौजूदगी का अहसास रहता है। इस विशेष समायोजन में मूवी के दीवाने शामिल (साइन-अप) हो कर पूरे साल देश-विदेश की उम्दा और नई-नई फिल्में निःशुल्क देख सकेंगे।
दिल्ली आयोजन के खास होने की एक वजह यह भी है कि आयोजन हाल में खुले पीवीआर ईसीएक्स, चाणक्य में होगा। इस सिनेप्लेक्स से दिल्ली वालों की यादें जुड़ी हैं क्योंकि यह जाने-माने चाणक्य का नया अवतार है। इसमें बड़ी संतुष्टि का बड़ा फलक है जो मामी की सफलता की नींव है।
मुंबई में मामी के पूरे साल के आयोजन में अब तक 40 फिल्में दिखाई गई हैं। इनमें द लेडी बर्ड, द स्क्वाॅयर, स्फीयर आॅफ वाटर, थ्री बिलबोर्ड्स आउटसाइड एबिंग मिसौरी और विलेज राॅकस्टार जैसी फिल्में हैं। इस प्रोग्राम के लिए लगभग 7000+ सदस्य नामांकित हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *