बिना एक दूसरे पर आक्रामक हुये पाकिस्तान के साथ काम करना चाहते हैं : जिम मैटिस

वाॅशिंगटन। अमेरिकी रक्षा मंत्री जिम मैटिस ने कहा कि वह आतंकवाद के खिलाफ जंग में पाकिस्तान के साथ मिलकर काम करने के लिये साझा आधार तलाशने के लिये पक्का इरादा रखते हैं। उन्होंने कहा कि दक्षिण एशिया में आर्थिक विकास और एक हद तक स्थायित्व बहाली के लिये यह जरूरी है।
अपनी इस्लामाबाद यात्रा से पहले मैटिस ने कहा कि वह पाकिस्तान के साथ काम करना चाहते हैं, बिना एक दूसरे पर आक्रामक हुये उसे सुनना चाहते हैं, उसका नजरिया जानना चाहते हैं जिससे समस्या का समाधान किया जा सके। अमेरिकी रक्षा मंत्रालय की जिम्मेदारी संभालने के बाद मैटिस मिस्र, जॉर्डन, कुवैत और पाकिस्तान के पांच दिन के दौरे पर हैं।
मुंबई आतंकी हमले के मास्टरमाइंड हाफिज सईद पर तत्काल आरोप तय करने और उसे गिरफ्तार करने के व्हाइट हाउस के अनुरोध के करीब एक हफ्ते बाद मैटिस का यह दौरा हो रहा है। अमेरिका ने चेतावनी दी थी कि हाफिज पर कार्रवाई नहीं होने की सूरत में उसे अंजाम भुगतने होंगे। मैटिस ने कहा कि उन्हें देश में नेताओं से बात करने और उन्हें समझने का मौका मिलेगा।
ट्रंप प्रशासन की सख्त चेतावनी के बावजूद सईद अब भी पाकिस्तान में बेखौफ घूम रहा है। मिस्र से पाकिस्तान के रास्ते में अपने साथ सफर कर रहे पत्रकारों से मैटिस ने कहा, ‘पहली चीज जो मैं करने जा रहा हूं वह यह है कि मैं थोड़ा सुनने वाला हूं। जैसा कि मैं हमेशा करता हूं। मेरा लक्ष्य साझा आधार तलाशना है। मुझे वहां जाकर उनके साथ बैठ कर उन्हें सुनने की जरूरत है। इसकी शुरुआत उन्हें सुनकर करूंगा।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *