गर्मियों में कामकाजी महिलाओं के लिए सौंदर्य टिप्स

-शहनाज हुसैन
अंतर्राष्ट्रीय ख्याति प्राप्त सौंदर्य विशेषज्ञ है तथा हर्बल क्वीन
घर तथा ऑफिस की जिम्मेदारी सँभालने बाली कामकाजी महिलाएं अक्सर अपनी सेहत तथा सौंदर्य के लिए ज्यादा वक्त नहीं दे पातीं। घर तथा ऑफिस के बीच लगातार भागदौड़ तथा पारिवारिक एवं पेशेवर जिम्मेदारियों से उनके शारीरिक तथा मानसिक स्वास्थ्य पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है तथा उन्हें जीवन शैली से जुडी अनेक बिमारियों से रु-ब-रु होना पड़ता है जिससे उनके स्वभाव तथा स्वरुप में चिढ़ चिढ़ापन घर कर जाता है। दोहरी जिम्मेदारियों को निभाने के दबाब की बजह से कामकाजी महिलाएं तनाव के दौर से गुजरती हैं जिससे उनकी सेहत तथा सौंदर्य पर बिपरीत प्रभाव पड़ता है तथा बह अपनी उम्र से ज्यादा बूढ़ी दिखने लगती हैं। पति, बच्चों तथा कार्यालय के बोझ से मानसिक तनाव तथा शारीरिक थकावट झेल रही महिलाओं के चेहरे से रौनक गायब रहती है तथा त्वचा रूखी, सुखी तथा बुझी सी दिखती है और बालों से चमक भी गायब रहती है।
लेकिन घर परिवार की दोहरी जिम्मेदारियां निभाना इन महिलाओं की मजबूरी बन जाता है तथा सजने सँवरने का उनके पास वकत ही कहाँ होता है। सामान्यता कामकाजी महिलाओं को हफ्ते में एक दिन ब्यूटी पार्लर के लिए निकालना काफी मुश्किल होता है तथा ऐसे में बह घरेलू हर्बल नुस्खों पर ही निर्भर करती है
हर्बल क्वीन शहनाज हुसैन का कहना है की पेशेवर महिलायें कुछ छोटे टिप्स अपना कर कम समय में भी अपने व्यक्तित्व को निखार सकती है तथा सौंदर्य से जुडी समस्यायों का घर बैठे ही निदान पा सकती हैं।
इस साल वसन्त ऋतु में ही सूर्य देव अपनी पूरी छटा बिखेर रहे है जिससे गर्मी अपने जलबे विखेर रही है तथा तापमान 40 डिग्री पार कर रहा है जिससे सनबर्न, हाथों, पांवों में जलन जैसी समस्याओं से अभी झूझना पर रहा है जिनसे सामान्यता जून के महीने मेँ सामना करना पड़ता था।

  • कामकाजी महिलाओं को अपने कार्य स्थल पर जाने के लिए ट्रैफिक जाम, वायु प्रदूषण तथा कालिख से प्रतिदिन जूझना पडता है। इन महिलाओं को अपने अंगों की स्वच्छता पर ज्यादा ध्यान देना चाहिए। कामकाजी महिलाओं को गर्मियों में सोने से पहले अपने सौंदर्य, प्रदूषण, गन्दगी, पसीने की बदबू तथा तैलीय पदार्थो को अपने अंगों से छुडाने के लिए रात को अपनी त्वचा को ताजे स्वच्छ पानी से अवश्यक धोना चाहिए।
  • गर्मियों में तुलसी तथा नीम फेशवाश सबसे उपयुक्त है। इससे मैलापन दूर करने में मदद मिलेगी तथा त्वचा को फोड़े फुन्सी, लाल चकत्तों आदि से संरक्षण तथा शांति मिलेगी।
  • त्वचा को साफ करने के बाद ठण्डे गुलाब जल सेे त्वचा की रंगत निखारिए। उसमें न केवल त्वचा में ताजगी तथा शीतलता आती है बल्कि इससे त्वचा में रक्त संचार को प्रवाह को नियमित करने में मदद मिलती है तथा चेहरे की चमक दमक बढ जाती है गर्मियों के दौरान गर्म तथा आर्द्रता भरे मौसम में मैट माइस्चराईजर सबसे उपयुक्त माना जाता है। यदि आप बाहर सफर करती है तो सनस्क्रीन का उपयोग कीजिए। तैलीय त्वचा के लिए आयल फ्री सनस्क्रीन भी बाजार में उपलब्ध है।
  • गर्मियों में सप्ताह में दो तीन बार फेशियल स्क्रब का प्रयोग कीजिए। फेशियल स्क्रब से त्वचा में निर्जिव कोशिकाओं को हटाने में मदद मिलती है तथा त्वचा की गहरी सफाई होती है। इससे त्वचा में चमकीलापन तथा निर्मलता आती है, यदि आपकी त्वचा शुष्क है तो रात को इसे साफ करने के बाद पोषित कीजिए।
    त्वचा पर नारिसिंग क्रीम लगाकर हल्के-हल्के चारों ओर गोलाकार स्वरूप में त्वचा की मालिश कीजिए। जब आप ऊपर की ओर क्रीम लगा रही है तो ज्यादा दवाब महसूस धोना चाहिए। मसाज के 3 या 4 मिनट के अन्प्दर इसे पूरी तरह ताजे साफ जल से धो डालिए।
  • गर्मियों में हफते में दो बार फेस मास्क का उपयोग कीजिए। फेस मास्क को होठों तथा अंाखों के समीप के क्षेत्र को छोड़कर चेहरे पर लगाइए तथा जब यह शुष्क हो जाए तो इसे धो डालिए।
  • अपने मेकअप में ताजगी लाने के लिए अपने हैंड बैग में कुछ सौदर्य सामग्री जरूर रखिए। गर्मियों में सुगन्धित गीले टीशू काफी सफूर्तिदायक साबित हो सकते है। यह बाजार में आसानी से उपलब्ध हो जाते है। इन्हें त्वचा को साफ करने तथा पसीने की बदबू तथा मैल आदि की साफ करने में उपयोग में लाया जा सकता है। इसमें सुगन्धित पाऊडर भी लाभदायक एवं असरदायक माना जाता है। इससे गर्मियों में तैलीय आकृति से छुटकारा पाने में मदद मिलती है। सबसे पहले त्वचा को टिशू से साफ कीजिए तथा बाद में पाऊडर का उपयोग कीजिए। आपको दोपहर में लंच के बाद टच-अप के लिए लिपस्टिक की जरूरत पडेगी। गर्मियों में इतर की छोटी बोतल या अपना मनपसन्द डियोडोरेंट साथ रखना कभी न भूले।
    बालों की देखभाल
  • हालाँकि लम्बे बालों का फैशन आम है लेकिन गर्मियों में जब आप कार्यस्थल पर हो तो इन्हें खुला छोड़ना उपयुक्त नही है। बालों के साथ उलझना आपके ध्यान को बार-बार भंग कर सकता है। बालों का जूड़ा बना लीजिए या इन्हें पिन से बांध लीजिए। बालों की चोटी बनाकर इन्हें पिछली ओर भी बांधा जा सकता है, वास्तव में बालों की चोटी बनाना आजकल फैशन बनता जा रहा है। आप ऊंची या नीची चोटी बनाकर उसे रिबन से बांध सकती है। वास्तव में रिबन का रंग आपकी पौशाक मिलता जुलता होना चाहिए। बाजार में विभिन्न प्रकार के बालों के उपसाधन उपलब्ध है। विभिन्न प्रकार के आर्कषक क्लिप या बालों के उपसाधन बाजार में आसानी से मिलते है। लेकिन कामकाजी महिलाओं को ज्यादा सजावटी उपसाधनों का उपयोग नहीं करना चाहिए। आप बालों को लच्छेदार भी बना सकती है तथा चोटी बनाकर क्लिप से बांध सकती है।
  • कामकाजी महिलाओं को गुथे हुए बाल काफी सहायक सिद्ध हो सकते हैं हालांकि इसके लिए उन्हें थोड़ा समय देना पड़ेगा लम्बे तथा मीडियम बालों को चोटी में बांधकर उपयुक्त तरीके से रखा जा सकता है। अपने बालों को तीन हिस्सों में बांटकर इसे रस्सी की तरह एक दूसरे से लिपटा दीजिए।
  • चोटी के अन्ते मेें इलास्टिक बैंड या रिबन का उपयोग करके इसे दृढ़ता से बांध दीजिए। युवा महिलाओं पर चोटी काफी आकर्षक लगती है। बालों में नए फैशन ने भी दस्तक दी है। बालों को अपने चेहरे से दूर रखिए। यदि आपके बाल छोटे है तो इन्हें सादे ढंग से रखिए तथा प्राकृतिक परतें बनाकर रखिए। यदि आप बालों में कलर भी करती है तो हल्के रंगों को प्राकृतिक रूप में प्रयोग कीजिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *