कोरोना पर भारी योगिक पद्धति हमारी

-अलका सिंह
योगा एक्सपर्ट, दिल्ली

योग में वह शक्ति है कि अगर हम विश्वास रखें और उसे अच्छे से अपनाएं तो इसका ऐसा सकारात्मक प्रभाव शरीर पर पड़ेगा कि इसका असर कोरोना पर भी भारी पड़ेगा।
इस समय पूरे विश्व में कोरोना वायरस के संक्रमण से उत्पन्न गंभीर स्थिति बनी हुई है, जिससे लोग खौफ में जी रहे हैं, कोरोना ने पूरी दुनिया में अपना कोहराम मचा रखा है, कोरोना वायरस के कोहराम से पूरी दुनिया संकट में आ गई है, कोरोना के मामले में लगातार इजाफा देखने को मिल रहा है, इस कोहराम के कारण पूरी दुनिया में लोग भयभीत और डरे हुए हैं, क्योंकि अब तक भी कोरोना की कोई दवा नहीं बनी हैं। ऐसी स्थिति में तबाही आ सकती है। इसलिए कोरोना से डरने की नहीं तेजी से एक्शन लेने की आवश्यकता है अन्यथा मुश्किलें और बढ़ सकती हैं। यह वायरस किसी को भी तेजी से अपनी चपेट में ले लेता है, यह वायरस तभी ट्रांसफर होता है, जब लोग नजदीक आते हैं और संपर्क में आने के दौरान ही हंसते छीकते खासते समय यह वायरस तेजी से दूसरे लोगों को भी संक्रमित कर देता है, जिन की रोग प्रतिरोधक क्षमता बहुत कमजोर है, वहीं इस वायरस का शिकार बन जाते हैं।
जिसकी इम्यूनिटी उत्तम है, वहीं इस कोरोना की जंग को जीत सकेगा। इसीलिए अपनी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने पर विशेष ध्यान देना चाहिए। हमारे इमयून सिसटम को बढाने मे योग बहुत बडी भूमिका निभा सकता हैं। अभी कोरोना का इलाज सिर्फ हमारी स्ट्रांग इम्यूनिटी होना ही है, यही हमारी दवाई भी है। इसीलिए अपनी इम्यूनिटी बढ़ाने पर विशेष ध्यान देना चाहिए, जिससे हमारी इम्यूनिटी बढ़े और कोई भी वायरस हम पर हावी ना हो सके और ना ही अपना शिकार बना सके। जो लोग नियमित रूप से प्राणायाम करते हैं उनकी रोग प्रतिरोधक क्षमता इतनी बढ़ जाती है कि कोई भी बीमारी आ ही नहीं सकती और आ भी जाए तो टिक नहीं सकती।
योगासन के प्रभाव को जानने के लिए रिसर्च की गई जिससे यह सामने आया कि इन योगासनों का अभ्यास करने से पूरे शरीर में रक्त का प्रभाव ठीक तरह से होता है और इसका सकारात्मक प्रभाव हमारे इम्यून सेल्स पर भी पड़ता है, अपनी इम्यूनिटी को पुष्ट करने के लिए योग में आसन प्राणायाम ध्यान षट्कर्म अवश्य ही करें इससे हमारी इम्यूनिटी पावर बढ़ेगी। योगाभ्यास से हमारी इम्यूनिटी पावर बढ़ती है। योग मे ऐसी शक्ति है कि अब पूरे विश्व से समाचार आ भी रहे हैं कि कोरोना से पीड़ित व्यक्ति योग प्राणायाम ध्यान षट्कर्म से ठीक होते जा रहे हैं।
कोई भी वायरस हम पर हावी ना हो सके और अपना शिकार ना बना सके। इसके लिए हमारी योगिक पद्धति को अपनाए और निरोगी काया पाए। इम्यून सिस्टम की मजबूती के लिए कारगर है यह आसन इन आसनों का योगाभ्यास हमारी इम्यूनिटी को बढ़ाएगा यह आसन हैं उष्ट्रासन, त्रिकोणासन और भुजंगासन धनुरासन हैं। इन आसनों का अभ्यास अवश्य करें भुजंगासन हमारे शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली के लिए बहुत फायदेमंद हो सकता है।
उष्ट्रासन हमारे इम्यून सिस्टम की मजबूती के लिए कारगर हैं, यह आसन इन आसनो का योगाभ्यास हमारी इम्यून सिस्टम को और बढ़ाएगा इसके अभ्यास से हमारा इम्यून सिस्टम बेहतर बनेगा। इम्यून सिस्टम ही हमें किसी भी संक्रमण से बचाने में मदद करता है, अपने स्ट्रेस लेवल को कम करने के लिए भामरी प्राणायाम ध्यान ओम का उच्चारण अवश्य करें।
अपनी इम्यून सिस्टम पुष्ट करने के लिए योग में आसन प्राणायाम ध्यान षटकर्म अवश्य ही करें इससे हमारी इम्यूनिटी बढ़ेगी। अपने स्ट्रेस लेवल को कम करने के लिए भ्रामरी प्राणायाम, भस्त्रिका, कपालभाति, अनुलोम विलोम, नाड़ी शोधन, उज्जाई प्राणायाम यह अवश्य ही करें प्राणायाम का अभ्यास तथा ओम का उच्चारण भी अवश्य करें इससे हमारी इम्यूनिटी स्ट्रांग होगी।
इम्यून सिस्टम के कमजोर होने पर अक्सर सर्दी जुकाम एलर्जी वाली इन्फेक्शन के रोग हो जाते हैं। योग व प्राणायाम शरीर को स्वस्थ और रोग मुक्त रखने में बहुत बड़ी भूमिका निभाते हैं, इम्यूनिटी सिस्टम को पुष्ट करने में अन्य उपायों को भी अपने दैनिक जीवन मे अवश्य अपनाए।
हमारी इम्यूनिटी अच्छी होगी तभी हम कोरोना वायरस से जीत सकते हैं।
योग इमयूनिटी बढ़ाने के लिए नेचुरल उपाय हो सकता है इम्यूनिटी को नेचुरल तरीके से बढ़ाने के लिए योग से बेहतर और कुछ नहीं। हमें हमेशा एक्टिव रहना चाहिए। गतिहीन जीवन शैली कमियों से ही इम्यूनिटी कमजोर होती हैं और कमजोर इमयून सिस्टम का कारण बनती है। योग व प्राणायाम शरीर को स्वस्थ और रोग मुक्त रखने में बहुत बड़ी भूमिका निभाते हैं। हंसी भी बहुत जरूरी है हंसने से रक्त संचार सुचारू होता है, वह हमारा शरीर अधिक से अधिक मात्रा में ऑक्सीजन ग्रहण करता है तनाव मुक्त एवं खुशी-खुशी हंसने से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ने में मदद मिलती है।
शुद्ध जल के सेवन से शरीर में जमा हुआ कई तरह के विषैले तत्व बाहर निकलते हैं, पर पानी फ्रिज का नहीं पीना चाहिए। हमेशा गुनगुना ही पानी चाहिए। रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाना आसान है सिर्फ इसके लिए आपको अपने दिनचर्या में योग को अपनाना होगा। दैनिक जीवन में योगाभ्यास आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाएगा। जिससे आपका शरीर किसी भी संक्रमण से खुद का बचाव कर पाएगा। घर में रहकर भी हम अपनी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ा सकते हैं सिर्फ अपनी आदत में योग को शामिल करना होगा। योगासन प्राणायाम ध्यान का अभ्यास नियमित करें और कम से कम आधे से 1 घंटे तक योगासन और प्राणायाम करने से हमारे शरीर के भीतर हार्मोन संतुलन कायम करने में मदद मिलती है 10 से 15 मिनट सूक्ष्म व्यायाम का अभ्यास भी अवश्य करें प्राणायाम तनाव दूर करने में मददगार है।
गुनगुना पानी ही पिये। फ्रिज का पानी ना पिए और बार-बार हाथ धोने की आदत डालें साबुन से बार-बार हाथ धोए। मास्क का प्रयोग अवश्य ही करें। सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें। इस प्रकार इन सब उपायों का उपयोग भी अपने दैनिक जीवन में अवश्य ही करें। इस प्रकार हम कह सकते हैं कि योग द्वारा इमयूनिटी को बढ़ाकर हम कोरोना पर विजय हासिल कर सकते है, अतः हमारी यही योगिक पद्धति का अभ्यास अगर हम अपने दैनिक जीवन में करें तो अवश्य ही कोरोना पर विजय हासिल कर सकते हैं। हमारी यही योगिक पद्धति कोरोना पर अवश्य भारी पड़ेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *