अब सरपट दौड़ेगी देश की पहली बुलेट ट्रेन

अहमदाबाद। देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे ने अहमदाबाद-मुंबई बुलेट ट्रेन परियोजना की आधारशिला रखी। जापान ने इस बुलेट ट्रेन परियोजना के लिए 0.1 फीसदी के ब्याज पर 88,000 करोड़ रुपए का कर्ज दे रहा है जिसका पुनर्भुगतान 50 वर्षों में किया जाना है। इस बुलेट ट्रेन परियोजना की कुल लागत 1,10,000 करोड़ रुपए होगी।
भारत में चलने वाली बुलेट ट्रेन के लिए जो ट्रैक को डिजाइन किया जाना है उसकी अधिकतम रफ्तार 350 किमी प्रति घंटा होगी लेकिन परियोजना पूरी होने के बाद इसी ट्रैक बुलेट ट्रेन 320 किमी प्रति घंटे की गति से दौड़ेगी।
बुलेट ट्रेन शुरू होने के बाद अहमदाबाद-मुंबई या मुंबई-अहमदाबाद आने जाने के लिए आपको 2,700 रुपए से 3,000 रुपए खर्च करने पड़ सकते हैं। वहीं, इस रूट के लिए हवाई जहाज का किराया 3,500 रुपए से 4,000 रुपए है जबकि लक्जरी बस का किराया 1,500 रुपए से 2,000 रुपए तक है। आपको बता दें कि सड़क या रेल के माध्यम से इस रूट पर ट्रैवल करने में जितना वक्त लगता है, बुलेट ट्रेन शुरू होने के बाद 70 फीसदी समय की बचत होगी।
परियोजना पूरी होने के बाद बुलेट ट्रेन साबरमती रेलवे स्टेशन से बांद्रा कुर्लाकुर्ला कॉम्प्लैक्स मुंबई की 508 किमी की दूरी तय करेगी। चार स्टेशनों पर रुकते हुए बुलेट ट्रेन यह दूरी 2 घंटे 7 मिनट में पूरी करेगी। वैसे 12 स्टेशन प्रस्तावित हैं। इनमें बांद्रा कुर्ला, ठाणे, विरार, भोइसर, वापी, बिलिमोर, सूरत, भरूच, वडोदरा, अहमदाबाद और साबरमती शामिल हैं।
इस बुलेट ट्रेन की इस परियोजना में लगभग 120 लाख घन मीटर कंक्रीट की जरूरत होगी। वहीं, 55 लाख मीट्रिक टन सीमेंट लगेगा।  इसके अलावा, 15 लाख मीट्रिक टन स्टील की भी जरूरत होगी। इस बुलेट ट्रेन से एक बार में 750 लोग सफर कर पाएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *