भारत बनेगा विद्युत वाहनों का नंबर वन निर्यातक – श्री नितिन गडकरी

नई दिल्ली। ईको फ्रेंडली इलेक्ट्रिक वाहन टेक्नोलॉजी को समर्पित, पाँचवे ई वी एक्सपो 2017 की शुरुआत आज प्रगति मैदान के हॉल नंबर 7 में हुई। केंद्रीय सड़क परिवहन व राजमार्ग मंत्री श्री नितिन गडकरी ने इसका उद्घाटन किया।
इस अवसर पर श्री गडकरी ने कहा ‘मेरा मानना है कि इस देश के गरीब रिक्क्षा चालकों को जो कि सवारिओ को बहुत शारीरिक श्रम से साइकिल रिक्सा पर ढोते थे, उनके लिए ई-रिक्शा लाकर इस अमानवीय प्रथा से मुक्ति दिलाना मेरे जीवन का सबसे बड़ा काम होगा। मैं विद्युत वाहन उद्योग का धन्यवाद करता हूँ की वह उन्होंने ई-रिक्शा उपलब्ध करा कर लाखों लोगों को काम दिलाने के साथ साथ उनको शोषणमुक्त कराया है। इस देश में 1 करोड़ लोग जो अभी भी साइकिल रिक्शा से माल और सवारी ढोते हैं, उन तक ई-रिक्शा पहुँचाना इस इंडस्ट्री के सामने बहुत बड़ा अवसर है जिसका उन्हें पूरा लाभ उठाना चाहिए। मैं विधुत वाहन उत्पादकों को अपनी गुणवत्ता और मापदंड का ख्याल रखने की सलाह दूंगा ताकि यह उद्योग काफी तरक्की कर सके।
पेट्रोल के 80 रूपये और डीज़ल के 60 रूपये के मुकाबले, जब विद्युत वाहन को चलाने की कीमत सिर्फ 8 रुपया है और वह भी बिना प्रदुषण के, तो कौन नहीं इसे अपनाना चाहेगा। मेरा मानना है की अगले दो सालों मैं विद्युत वाहनों की मांग मैं जबरदस्त बड़ोतरी होगी।
इलेक्िट्रक वाहन उद्योग का इस देश में भविष्य बहुत उज्जवल है आने वाले समय में भारत विद्युत वाहन निर्यात करने वाला दुनिया का सबसे अव्वल देश बन जायेगा और हम अपने वाहन नेपाल और बांग्लादेश जैसे देशों में निर्यात करेंगे अगर हमारे तेल के ७ लाख करोड़ के खर्चे में अगर सिर्फ २ लाख करोड़ की कमी भी आती है तो इससे २ करोड़ युवाओं को काम मिल सकेगाष्
100 से अधिक राष्ट्रीय तथा अन्तराष्ट्रीय ई.वहिक्ल कम्पनियां इस एक्सपो में अपने प्रदूष्ण रहित नवीनतम 2,3, 4 पहिया ई-वाहन जैसे ई.रिक्शा, ई-कार्ट्स, ई-बाइक, ई-स्कूटर, ई-साईकल, ई-लोडर तथा 4 पहिए वाली ई.बसें प्रदर्शित कर रहे हैं । एक्सपो में एक बहुत ही महत्वपूर्ण लिंक – लिथियम आयन बैटरियां भी प्रदर्शन पर हैं। बहुत सारे उत्पादक ई-रिक्शा के साथ साथ नवीनतम विद्युत् स्कूटर भी इस एक्सपो में लेकर आये हैं।
ई वी एक्सपो के संयोजक श्री राजीव अरोरा ने कहा ‘यह हमारा पांचवा ई वी एक्सपो काफी महत्वपूर्ण है, क्योंकि आज सरकार की इलेक्ट्रिक वाहन समर्थक नीतियों से प्रोत्साहित होकर भारत में यह उद्योग बहुत तेज़ी से आगे बढ़ने के कागार पर है । बहुत जल्द हम वातावरण अनुकूल इलेक्ट्रिक वाहनों का उपयोग परिवहन, सामान ढोने, के साथ साथ निजी उपयोग में भी देखने लगेंगे जिससे प्रदुषण से जूझ रहे हमारे शहरों को भी कुछ रहत मिलेगी। इस एक्सपो में नवीनतम प्रौद्योगिकी के साथ साथ अगली कुछ पीढ़ी के इलेक्ट्रिक वाहनों का भी अनावरण होगा।’
अनुज शर्माए अध्यक्ष ई-रिक्शा समितिए सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालयए भारत सरकार ने कहा ‘हम भारत सरकार और विशेषकर श्री नितिन गडकरी जी का धन्यवाद करतने हैं की वह प्रदुषण रहित विद्युत वाहनों के बड़े पैमाने पर इस्तेमाल को जल्दी से लागू करने के लिए प्रतिबद्ध हैं ओर उसे लिए सकारात्मक नीतिया ला रहे हैं इस एक्सपो ने सरकार के ‘स्टैंड अप इंडिया’ और प्रधान मंत्री की ‘मुद्रा ऋण योजना’ को ध्यान मैं रख कर कुछ बैंको और माइक्रो फाइनेंस कंपनियों को साथ में जोड़ा है ताकि यहाँ प्रस्तुत उत्पादों पर बहुत आकर्षक ऋण दिया जा सके’
ईवी एक्सपो 2017 सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा समर्थित है और इसे आईसीएटी (इंटरनेशनल सेंटर फॉर ऑटोमोटिव टेक्नोलॉजी) और ईआरएमए (ई.रिक्शा मैन्युफैक्चरर्स एसोसिएशन) के सहयोग से आयोजित किया जा रहा है।
यहाँ अपने उत्पाद प्रदर्शित करने वाली कुछ प्रतिष्ठित भारतीय कम्पनियां शामिल हैं जैसे – लोहिया ऑटो इंडस्ट्रीज, सोना बी एल डब्लियु फोर्जिंग, सोनी ई. व्हीकल, ऑटोलाईट (इंडिया) लिमिटेड- ऑटोपाल, टेरा मोटर्स इंडिया, एनर्जी इलेक्िट्रक वेहिक्लस, ओकाया पावर प्राइवेट लिमिटेड, माइक्रोमैक्स एनर्जी लिमिटेड, ऑल्टियस टेक्नोलॉजी आदि।
विदेशी प्रदर्शकों में चीन की संख्या सबसे अधिक है, जिनकी 20 से अधिक चीनी कंपनियां अपने ई-वाहन उत्पादों का प्रदर्शन कर रहीं हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *