सूरजकुंड मेले में देखें संस्कृति और परंपरा की एक झलक

दिल्ली। हर साल की तरह ही इस साल भी सूरजकुंड मेला शुरू हो चुका है। हर साल सुरजकूंड मेले में भारत के अलग-अलग कल्चर और लोक परंपराओं की झलक दिखने को मिलती है। हर साल यहां एक खास राज्य के परंपरा, खान-पान, शिल्प और कलाएं दिखाई जाती हैं। यह मेला दूसरे शहरों में रह रहे लोगों के लिए अपने संस्कृति की यादें ताजा कर देता है। इस मेले के दिवाने हजारों की तादाद में यहां घूमने आते हैं और मेले का लुत्फ उठाते हैं।
सूरजकुंड मेला अथॉरिटी, हरियाणा टूरिज्म और टेक्स्टाइल, पर्यटन, कल्चर एंड एक्सटर्नल अफेयर्स मंत्रालय मिलकर इसे आयोजित करते हैं, इनका उद्देश्य होता है ग्रामीण भारत के संस्कृति और परंपरा को दिखाना।
इस साल यह मेला 2 फरवरी से शुरू होकर 18 फरवरी 2018 तक चलेगा। इस बार 32वां सूरजकुंड इंटरनेशनल क्राफ्ट मेला 2018 आयेजित हुआ है, यहां की थीम है उत्तर प्रदेश। इस मेले में कम से कम 20 देश और सभी भारतीय राज्य ने हिस्सा लिया है। यह मेला दर्शकों के लिए सुबह 10 बजकर 30 मिनट से शुरू होकर रात 8 बजकर 30 मिनट तक खुलता है। शनिवार-रविवार इस मेले की टिकट 120 रुपये प्रति व्यक्ति है और बाकि दिनों में 180 रुपये प्रति व्यक्ति। अगर आप चाहें तो सूरजकुंड मेले की टिकट को ऑनलाइन भी बुक कर सकते हैं।
हैंडीक्राफ्ट्स और हैंडलूम के अलावा यहां खुली चैपालों पर सांस्कृतिक प्रदर्शन और गाना-बजाना देख सकते हैं, इसके अलावा यहां कविताओं का भी कार्यक्रम है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *