एम पी वीरेंद्र कुमार का निधन राजनीति और पत्रकारिता जगत को बड़ा नुकसान : प्रकाश जावडेकर

नई दिल्ली। सूचना और प्रसारण मंत्री प्रकाश जावडेकर ने शुक्रवार को कहा कि एम पी वीरेंद्र कुमार का निधन राजनीति और पत्रकारिता जगत को बड़ा नुकसान है। वीरेंद्र कुमार प्रमुख मलयाली दैनिक मातृभूमि के प्रबंध निदेशक और पीटीआई निदेशक मंडल के सदस्य थे। मलयाली लेखक-पत्रकार और राज्यसभा सदस्य एमपी वीरेंद्र कुमार का बृहस्पतिचार को कोझीकोड में दिल का दौरा पड़ने से एक निजी अस्पाताल में निधन हो गया है। वह 84 वर्ष के थे। जावडेकर ने ट्वीट किया, ‘‘एम पी वीरेंद्र कुमार एक विद्वान राजनीतिज्ञ, समाजवादी, लेखक और पत्रकार थे। केंद्रीय श्रम मंत्री के रूप में वह श्रमिकों के कल्याण के लिये खड़े रहे। मातृभूमि के सीएमडी के रूप में उन्होंने सुनिश्चित किया कि यह लोगों की आवाज बने। उनके निधन से राजनीति और पत्रकारिता जगत को बड़ा नुकसान हुआ है।’’ गौरतलब है कि वीरेंद्र कुमार मार्च 2018 में केरल से राज्यसभा के लिए निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में निर्वाचित हुए थे। उन्हें वाम लोकतांत्रिक मोर्चे (एलडीएफ) का समर्थन हासिल था। वे समाचार एजेंसी प्रेस ट्रस्ट ऑफ इंडिया (पीटीआई) के तीन बार अध्यक्ष (चेयरमैन) रह चुके थे और निधन के समय बोर्ड में एक निदेशक थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *