वीहांत टेक्नोलॉजीज ने लांच किया कोविड एनालिटिक्स

नई दिल्ली। कोविड-19 के चलते लगे लॉकडाउन और सोशल डिस्टेन्सिंग के बीच बिना किसी संपर्क के कामकाज को आसान बनाने वाले तकनीकों को काफी सराहा जा रहा है। इसी क्रम में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस/मशीन लर्निंग-आधारित फिजिकल सिक्योरिटी, सर्विलांस सॉल्यूशंस प्रदान करने वाले अग्रणी कंपनी वीहांत टेक्नोलॉजीज ने आर्टफिशल इन्टेलिजंस (एआई) आधारित कोविड एनालिटिक्स लांच किया।
कोविड एनालिटिक्स एक एआई और कंप्यूटर विजन-ड्रिवेन इमेज एनालिटिक्स सोल्यूशंस है, जो कोविड-19 से बचाव को लेकर जारी नियमों के उल्लंघन करने वालों पर नजर रखेगा। इसका आर्टफिशल इन्टेलिजंस प्रोग्राम फेस मास्क डिटेक्शन, सोशल डिस्टेंस डिटेक्शन और ऑटोमेटिक नंबर प्लेट रिकग्निशन (एएनपीआर) के जरिए प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा लगाए गए प्रतिबंधों को न मानने वालों पर नजर रखने में सक्षम है। इसे दुकान के फर्श, निर्माण स्थलों, निर्माण इकाइयों, ट्रैफिक लाइट/जंक्शनों, हवाई अड्डों और अन्य जगहों जैसे बिजनेस पार्कों में लगाया जा सकता है।
ऐसे समय में जब दुनिया भर में सरकारों द्वारा लगाए लॉकडाउन के पालन में छूट दी जा रही है यह इसे खत्म करने का विचार किया जा रहा है, कोविड-19 का प्रसार रोकने के लिए स्वचालित कैमरा आधारित फेस मास्क और सोशल डिस्टिंग काफी महत्वपूर्ण उपकरण साबित होगा। इसमें लगे अत्याधुनिक एएनपीआर-सी जियो-टैगिंग और एआई एल्गोरिदम ट्रैफिक नियमों का उल्लंघन करने वाले वाहनों का पता लगाने और उन्हें ट्रैक करने में ट्रैफिक अधिकारियों की मदद करेगा। यह अनधिकृत वाहन परिचालन और तय निश्चित दूरी से आगे जाने वाले वाहनों को भी ट्रैक करेगा।
कोविड एनालिटिक्स को लेकर वीहांत टेक्नोलॉजीज के सीईओ और को-फाउंडर श्री कपिल बदरेजा ने कहा कि, “हम एकजुटता के साथ जिम्मेदारी निभाने में विश्वास करते हैं। इस विषम परिस्थितियों में हम सभी के लिए यह महत्वपूर्ण है कि एचएम जिस समाज में रहते हैं उसकी मदद करें। कोविड एनालिटिक्स किसी भी मौजूदा निगरानी प्रणाली में कार्यान्वयन के लिए उपयुक्त है। कैमरा पाॅजिशनिंग और कन्फिग्यरैशन में मामूली बदलाव के साथ इससे शानदार परिणाम प्राप्त किया जा सकता है।“
उन्होंने आगे कहा कि, ‘हमारे पास कोविड-19 पर सटीक डेटा नहीं है। डेटा गुणवत्ता और डेटा पारदर्शिता बहुत महत्वपूर्ण है क्योंकि दुनिया भर में लॉकडाउन हटाने और जारी रखने का निर्णय डेटा के आधार पर ही लिया जा रहा है।’
कोरोना-वायरस के प्रसार को कम करने में में सोशल डिस्टेन्सिंग और फेस मास्क बहुत प्रभावी उपाय साबित हुए हैं। कोविड एनालिटिक्स सोशल डिस्टेन्सिंग का पालन न करने वालों और फेस मास्क का प्रयोग न करने वालों की पहचान करने में मदद कर सकता है। एआई-आधारित यह नई और अनूठी पेशकश न सिर्फ वीहंत टेक्नोलॉजीज के तकनीकी समझ को प्रदर्शित करता है बल्कि, उपयोगकर्ताओं को इस वैश्विक महामारी से निपटने के सबसे उपयुक्त उपायों से भी अवगत करवाएगा।
यही नहीं, वीहांत टेक्नोलॉजीज ने एक थर्मल और विजन कैमरा फेब्रि-आई (थ्मइतपम्लम) भी विकसित किया है, जो माथे के तापमान को मापता के साथ-साथ फेस मास्क और सोशल डिस्टेन्सिंग के उल्लंघन का भी पता लगाता है और अलार्म के जरिए जानकारी देता है। उपयोगकर्ता के अनुकूल इंटरफेस, सिस्टम द्वारा जारी अलर्ट की निगरानी और समीक्षा भी कर सकता है। फेब्रि-आई और कोविड एनालिटिक्स, डिटेक्ट करने, रियल टाइम रिपोर्ट करने, स्टोर करने और जरूरत पड़ने पर दोबारा डाटा प्राप्त कर पाने जैसे महत्वपूर्ण सुविधाओं के कारण किसी भी जगह/शहर के लिए उपयुक्त है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *