दिल्ली से अंजलि आंतो पहली रेड बुल कैच अप नेशनल चैंपियन बनी

गुड़गांव। इस अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर गुड़गांव में स्मैश स्काईकार्टिंग, जो एक लोकप्रिय खेल और मनोरंजन केंद्र है, में रेड बुल कैच अप, महिलाओं के लिए एक लोकप्रिय शौकिया गो कार्ट टूर्नामेंट, के राष्ट्रीय फाइनल का आयोजन हुआ। फरवरी में आयोजित क्वालीफायर और फाइनल्स से अपना रास्ता बनाकर, अंजलि आंतो टूर्नामेंट के विजेता के रूप में उभरी और ग्रांड प्रिक्स का व्यक्तिगत अनुभव करने के लिए अपने लिए सिंगापुर का एक टिकट जीता।
मीरा एरडा, फॉर्मूला रेसिंग के उच्चतम वर्गों में से एक में प्रतियोगी भारत की पहली महिला चालक, की भागीदारी ने टूर्नामेंट के प्रत्येक समूह क्वालीफायर के लिए राष्ट्रीय फाइनल के महत्व को बढ़ा दिया। प्रत्येक समूह क्वालीफायर में मीरा सबसे अंत में चलकर सभी प्रतिभागियों से आगे निकलकर समाप्ति रेखा पर सबसे पहले पहुँच जाती हैं और जो प्रतियोगी उनके सामने सबसे पहले समाप्ति रेखा पर पहुंची, उसे विजेता घोषित किया गया।
क्वालीफाइंग राउंड मुंबई और गुड़गांव में 6 फरवरी और 3 मार्च 2018 के बीच आयोजित हुए। प्रत्येक शहर से 10 बार शीर्ष पर रहने वालों के बीच टूर्नामेंट के राष्ट्रीय फाइनल में आज मुकाबला हुआ। चार रोमांचक समूह क्वालिफायरों में से पांच फाइनलिस्टस ने एक दूसरे से मुकाबला किया। इसके बाद चार क्वालिफायरों के प्रत्येक विजेता ने फाइनल मुकाबले में भाग लिया।
अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर आयोजित रेड बुल कैच अप के राष्ट्रीय फाइनल के महत्व के बारे में बोलते हुए मीरा एरडा ने कहा-“ रेड बुल, जिन्होंने रेड बुल कार्ट फाइट और रेड बुल कैच अप जैसे टूर्नामेंटस द्वारा महिला मोटरस्पोर्ट प्रेमियों को हमेशा प्रोत्साहित किया है, से जुड़ने के लिए मैं बेहद उत्साहित हूं। आज का दिन मेरे लिए सदा विशेष रहेगा क्योंकि मैंने महिला दिवस के इस अवसर पर महत्वाकांक्षी महिला रेसर्स के साथ ट्रैक साझा किया है।”
रेड बुल कैच अप का उद्देश्य महिला शौकिया रेसर्स और रेसिंग प्रेमियों को कार्टिंग के सकारात्मक पक्ष को महसूस करने और ट्रैक पर एक प्रतिस्पर्धी लेकिन मजेदार अनुभव पाने का अवसर प्रदान करना है। यह कार्टिंग टूर्नामेंट भारत में सबसे तेज महिला शौकिया कार्ट रेसर की खोज करने के लिए बनाया गया है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *