भारतीयों को लुभाने के लिए कई योजनाएं लाया मलेशिया के पेनांग का प्रतिनिधिमंडल

नई दिल्ली। द पेनांग कन्वेंशन एंड एग्जीबिशन ब्यूरो (पीसीईबी) ने दिल्ली के आई.टी.सी. शैरेटन में आज भारत के लिए अपना दूसरा सेल्स मिशन शुरू किया। पेनांग विश्व-स्तरीय टूरिस्ट आकर्षण है, जो आधुनिक अंतरराष्ट्रीय द्वीप शहर, यूनेस्को के विश्व विरासत स्थल, हरे-भरे वर्षावनों, सुंदर हिल स्टेशन, शानदार खरीदारी और शानदार भोजन की अपनी अद्वितीय पेशकश के लिए प्रसिद्ध है। इसके अतिरिक्त, यह उत्तरी मलेशियाई राज्य एक बिजनेस इवेंट्स डेस्टिनेशन भी है। पेनांग आईसीसीए (अंतरराष्ट्रीय कांग्रेस और कन्वेंशन एसोसिएशन) में मलेशिया में दूसरे स्थान पर है।
कॉर्पोरेट और एसोसिएशन की बैठकों, सम्मेलनों और इन्सेंटिव और छुट्टियों मनाने के लिए पेनांग को पसंदीदा गंतव्य के रूप में बढ़ावा देने के मकसद से आयोजित इस मीडिया मीट को पीसीईबी के प्रमुख कार्यकारी अधिकारी अश्विन गुणासेकरन और पर्यटन विकास, विरासत, कला और संस्कृति के लिए पेनांग के स्टेट एग्जीक्यूटिव काउंसिलर श्री येओ सून हिन ने सम्बोधित किया।
श्री येओ सून हिन ने इस यात्रा में वे पर्यटन अधिकारियों और प्रमुख भागीदारों के साथ आधिकारिक बैठकें करेंगे। उन्होंने कहा, “यह मिशन आतिथ्य, यात्रा और आयोजन के क्षेत्र की पेनांग की बेहतरीन पेशकश लेकर आया है।“ पीसीईबी के सीईओ गुणासेकरन कहते हैं, “पेनांग में बिजनेस इवेंट्स के लिए शीर्ष पांच बाजारों में से एक भारत है। पिछले साल इवेंट प्लानर्स और कॉन्फ्रेंस आयोजकों से खूब रुचि दिखाई।“
पीसीईबी के सीईओ अश्विन गुणासेकरन के नेतृत्व में आए मिशन में होटल, डेस्टिनेशन मैनेजमेंट कंपनियों, थीम पार्क, प्रोफेशनल कांफ्रेंस आयोजकों, इवेंट एक्सपर्ट्स और मलेशिया एयरलाइन्स के 12 भागीदार शामिल हैं। पेनांग की भारत में बढ़ती लोकप्रियता को भुनाने के लिए, पेनांग सेल्स मिशन चार शहरों का दौरा कर बी2बी एंगेजमेंट सेशन आयोजित करेगा, जिसमें भारत के बिजनेस इवेंट्स और छुट्टी यात्रा खरीदार शामिल होंगे।
अश्विन गुणासेकरन ने बताया कि भारतीय लोगों द्वारा पेनांग को पसंद किया जा रहा है। पिछले दो वर्षों में अच्छा उत्साह हमने देखा है। वर्ष 2017 में, एशिया प्रशांत क्षेत्र के 13 फीसदी बिजनेस इवेंट्स भारत से थे, जिससे 46 मिलियन डॉलर की आय हुई थी। वहीं 2018 में, पेनांग के सबसे बड़े बिजनेस इवेंट वी कॉन 2018 में दुनियाभर से 16,000 प्रतिनिधि आए, जिनमें से 80 फीसदी प्रतिनिधि भारत से थे। पेनांग जाने वाले भारतीय यात्रियों की संख्या तेजी से बढ़ी है। पेनांग इमिग्रेशन विभाग के अनुसार, 2018 में जनवरी से नवंबर के बीच 7250 यात्री पेनांग अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर उतरे, जबकि 2017 में यह संख्या 6569 थी। पेनांग और भारत के बीच सीधी उड़ान नहीं होने के बावजूद 10.3 फीसदी की वृद्धि हुई। जो अपने आप में सकारात्मक है।
पीसीईबी ने भारत के लिए विशेष रूप से नया समर्थन पैकेज पेश किया है, इस समर्थन पैकेज में (50 से 100 प्रतिनिधियों की बैठक के लिए) स्मृति चिह्न और स्वागत लंच की स्पोंसरशिप मात्र 2000 मलेशियाई रुपये से लेकर (501 प्रतिनिधियों और उससे ऊपर के समूहों के लिए) साइट दिखाने, आयोजकों के लिए स्वागत लंच, सांस्कृतिक प्रस्तुति और स्मृति चिह्न 15,000 मलेशियाई रुपये में दिए जा रहे हैं। इसके अतिरिक्त पिछले वर्ष भारतीय मीडिया में शानदार कवरेज को देखते हुए पेनांग सेल्स मिशन ने भारत के लिए मीडिया अवार्ड 2019 शुरू किया है। इसमें विजेताओं को पेनांग में पीसीईबी की बिजनेस मीट 2019 में शामिल होने सहित 5 दिन 4 रात का निःशुल्क टूर और 4 से 8 दिसंबर 2019 तक मीडिया फेमिलराइजेशन टूर कराया जाएगा। पीसीईबी ने ग्लोबल पनोरमा शोकेस के एडविन एजुकेशन प्रोग्राम की मेजबानी का ठेका लिया है। 4 से 8 सितंबर, 2018 तक आयोजित पेनांग इंटरेनशनल ट्रेवल एक्सचेंज में 120 भारतीय प्रतिनिधियों की मेजबानी पीसीईबी ने की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *