फिल्म ‘मुजफ्फरनगर-दी बर्निंग लव’ दर्शकों को सोचने पर मजबूर कर देगी

डेढ़ वर्षों की अथक परिश्रम के पश्चात् ‘मुजफ्फरनगर-दी बर्निंग लव’ फिल्म अब १७ नवंबर २०१७ में सब जगह प्रदर्शित हो रही है। फिल्म की पूरी टीम भारत की राजधानी दिल्ली पहुँची है। प्रेस सम्मेलन में मीडिया के साथ बातचीत करते हुए पूरी टीम ने अपने विचार और विचार साझा किए। उन्होंने अपनी नवीनतम रिलीज की विशिष्टता सुनाई।
फिल्म का निर्माण ’मोरना एंटरटेनमेंट प्राइवेट लिमिटेड’ के बैनर तले हुआ है, लेखक और निर्माता मनोज कुमार मांडी हैं, निर्देशक हरीश कुमार, संगीत मनोज नयन, राहुल भट्ट और फराज अहमद का है, छायांकन रवि कुमार सना का है और संपादन साजु चंद्रन का है।
फिल्म के निर्देशक हरीश कुमार ने बताया कि यह फिल्म २०१३ को मुजफ्फरनगर में घटित एक दुर्घटना पर आधारित होते है, यह हिंसक घटनाओं के बीच में दो दिलों के प्यार की भावनात्मक कहानी है, जो २०१३ के दंगे पर आधारित होते हुए भी दर्शकों को एक महत्वपूर्ण संदेश देती है, फिल्म में जहाँ अतिआवश्यक है, वहीं थोड़ी मारधाड़ दिखाई गई है, वरना फिल्म में हिंसा को नही दर्शाया गया है, यह फिल्म दर्शकों को सोचने पर मजबूर कर देगी. फिल्म के निर्माता मनोज कुमार मंडी स्वयं मुजफ्फरनगर के रहने वाले हैं और उस दंगे के वक्त वहां मौजूद थे, लिहाज़ा उन्होंने अपनी आँखों से काफी कुछ मंजर देखा है, जो उन्हें इस फिल्म की कहानी लिखने में मददगार हुई। फिल्म अब सेंसर हो चुकी है, फिल्म में कलाकार के रुप में देव शर्मा, एश्वर्य दिवान, एकांष भारद्वाज, अनिल जॉर्ज, मुर्स्लीम कुरेशी, संदीप बोस और रवि खन्ना हैं।

-निशा जैन

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *