कलर्स पर न्याय के पथ के बारीकियों को दिखलाया शो ‘कोर्टरूम : सच्चाई हाजिर हो’

हालांकि भारतीय कानून व्यवस्था समाज में एक प्रमुख भूमिका निभाती है, फिर भी अनेक लोगों को इसके कामकाज अच्छी समझ नहीं है। अधिकांश नागरिकों को पता नहीं है कि न्याय के पहियों को घुमाने में क्या-क्या लगता है। ऐसे सार्थक मनोरंजन और धारावाहिकों को बनाने के अपने फलसफे को ध्यान में रखते हुए जो हमारे समाज का एक अक्श हों, कलर्स अपने नए धारावाहिक कोर्टरूम को शुरु करने के लिए पूरी तरह से तैयार है, जो भारतीय कानून व्यवस्था के सार को खंगालने वाला अपराध-कानून का नाट्य रूपांरण है और एक सकारात्मक तरीके से सामूहिक चैतन्यता को प्रभावित करता है। 9 फरवरी को प्रीमियर कर रहा और ऑप्टीमिस्टिक्स एंटरटेनमेंट इंडिया प्राइवेट लिमिटेड द्वारा निर्मित कोर्टरूम असली अदालत के मुदकमों से प्रेरित है क्योंकि यह अपने आधार-वाक्य सच्चाई हाजिर हो के रूप में आरोप से लेकर फैसले तक की वास्तविक कार्यवाही का खुलासा करता है।
ऐसे धारावाहिकों को आगे लाने, जो जागरूकता को प्रेरित करते हैं, पर नीना एलाविया जयपुरिया: हेड, हिन्दी मास एंटरटेनमेंट एंड किड्स टीवी नेटवर्क, वायाकॉम18 ने कहा, ष्कलर्स में, ऐसे विषयों को चुनना हमारा हमेशा सचेत प्रयास रहा है जिनके साथ अपनापन महसूस हो और कुल मिलाकर समाज के कल्याण को आगे बढ़ाते है। कोर्टरूम के कन्सेप्ट को दर्शकों को कानूनी कार्यवाही का जल्दी-जल्दी बदलने वाले दृश्य को दिखाने के लिए डिजाइन किया गया है और कानून की अदालत में कैसे एक फैसले पर पहुंचा जाता है जिसे कानूनी व्यवस्था में सबसे अधिक धर्माभिमानी जगह माना जाता है। यह धारावाहिक हिंदी साधारण मनोरंजन स्पेस में एक अनूठा धारावाहिक है और इसका धारदार कन्टेंट इसे एक दिलचस्प पेशकश बनाएगा।”
मनीषा शर्मा, चीफ कन्टेंट ऑफिसर, हिंदी मास एंटरटेनमेंट, वायाकॉम 18 का कहना है, “अधिकांश अपराध पुलिस द्वारा अपराधी को हथकड़ी पहनाए जाने के साथ खत्म हो जाते हैं जिससे लोगों को लगता है कि अपराधी पकड़ा गया है, लेकिन यह कहानी का केवल एक ही चेहरा है। असली कहानी या सच्चाई की पुष्टि अदालत में होती है और कोर्टरूम के साथ हम असल जिंदगी से प्रेरणा पाने वाले मुकदमों को पेश करेंगे। इसके एपिसोड मी टू, रोड रेज, आदि जैसे मामलों पर भी रोशनी डालेंगे। ये मुकदमे सजा और साहस की कहानियाँ हैं क्योंकि अदालती मुकदमे बहुत लंबी और थकाऊ प्रक्रिया हैं।’
विपुल डी शाह (संस्थापक अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक), ऑप्टिमिस्टिक्स एंटरटेनमेंट इंडिया प्राइवेट लिमिटेड का कहना है: ‘भले यह आरोप तय करना, जिरह, अपराध स्थल की पुनः रचना करना, फोरेंसिक या सबूत हो, एक न्यायाधीश हर पहलू पर उचित विचार करने के लिए कानूनन बाध्य है। कोर्टरूम: सच्चाई हाजिर हो इसी के बारे में है। प्रत्येक मुकदमे का दो भागों में विश्लेषण किया है और कलाकारों का जमघट मौजूद है। दर्शकों को अहसास होगा कि एक न्यायाधीश कार्य उससे कहीं अधिक परतदार और जटिल है जितना कि यह प्रतीत होता है। आखिरकार, एक फैसला एक व्यक्ति की जिंदगी को बना या तोड़ सकता है।”
#DecodingJustice के विषय पर विचार-विमर्श करने के लिए, 5 फरवरी 2019 को दिल्ली में एक दिलचस्प पैनल चर्चा का आयोजन किया गया। इस पैनल में कानून प्रवर्तन एजेंसियों के गणमान्य व्यक्तियों से लेकर सामाजिक कार्यकर्ता, शो बिजनेस की दुनिया से हस्तियां शामिल थीं जैसे धारावाहिक के मेजबान के विकास कुमार के साथ बॉलीवुड अभिनेत्री – स्वरा भास्कर, अधिवक्ता सुप्रीम कोर्ट – विवेक नारायण शर्मा, रीना मुखर्जी, मुख्य पार्षद : सूरत, गीता श्रीफ, स्वतंत्र पत्रकार और मीडिया सलाहकार – रीना मुखर्जी! ऋचा अनिरुध द्वारा संचालित, इस पैनल द्वारा कानूनी व्यवस्था की डिकोडिंग से लेकर अन्वेषकों द्वारा इस्तेमाल किए जाने वाले संसाधनों तक जैसे विषयों पर रोशनी डाली गई, पैनलिस्ट्स ने एक मुकदमे की सफर पर चर्चा की और ऐतिहासिक मुकदमों के बारे में अपनी राय को साझा किया। उन्होंने न्याय व्यवस्था में नागरिकों की भूमिका पर भी बहस की।
न्याय व्यवस्था के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए, यह चैनल भारत में विभिन्न स्थानों में इसी तरह की चर्चा का आयोजन करना जारी रखेगा। इन चर्चाओं में प्रख्यात व्यक्तित्वों को एकसाथ लाना और भारतीय न्याय व्यवस्था के सर्वोच्च संस्थान की कार्यप्रणाली को उजागर करना जारी रखा जाएगा।
कोर्टरूम इस विचार को खंगालता है कि जब कभी कोई विवाद पैदा होता है, तब लोगों को कानून व्यवस्था की अपना रुख करते हैं और अदालत के विवेक और ज्ञान पर भरोसा करते हैं। फिर अदालत एक फैसला देने से पहले उनकी निष्पक्ष सुनवाई करती है। विकास कुमार की मेजबानी एवं संचालन के साथ और ऑप्टीमिस्टिक्स एंटरटेनमेंट इंडिया प्राइवेट लिमिटेड द्वारा निर्मित, कोर्टरूम: सच्चाई हाजिर हो प्रीमियर करेगा 9 फरवरी को और प्रसारित होगा हर शनिवार और रविवार रात 7:00 बजे केवल कलर्स पर।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *