दिल्ली एमसीडी भ्रष्टाचार का अड्डा, पार्षद नहीं, अधिकारी जिम्मेदार : मनोज तिवारी

नई दिल्ली। दिल्ली बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी अपनी बेबाकी के लिए पहचाने जाते हैं। कई बार उनकी इस बयानबाजी को उनके खिलाफ इस्तेमाल भी किया जाता है पर बावजूद इसके वह अपना यह अंदाज बरकरार रखते हैं। उनकी ऐसी ही बेबाकी टाक शो ‘प्लस माइनस’ में दिखी जहां उन्होंने बेबाकी से यह स्वीकार कर लिया कि हां दिल्ली एमसीडी के अधिकारी भ्रष्टाचारी हैं। एमसीडी का भ्रष्टाचार बहुतों की मिलीभगत का नतीजा है पर सबसे बड़े दोषी वह अधिकारी जिन्होंने सालों से इसकी जड़ों में भ्रष्टाचार बो रखा है। इन अधिकारियों पर जिस दिन कार्रवाही हो गई आधे से ज्यादा भ्रष्टाचार खत्म हो जाएगा। मनोज तिवारी ने एमसीडी को लेकर और भी कई खुलासे किए। सीलिंग को लेकर पिछले काफी समय से चर्चा में रहे मनोज ने कहा कि सीलिंग पर उनका जो रवैय्या पहले था अब भी वही है। सीलिंग में इतनी लापरवाही और भाई भतीजावाद चल रहा है जो नजरअंदाज नही किया जा सकता है। सीलिंग करने वालों से मनोज ने कहा कि क्यों उनकी नजर दिल्ली के ओखला इलाके पर नहीं पड़ती है जहां 10 मंजिला घर बने हुए हैं और लगातार बन रहे हैं। सबसे पहले सीलिंग ओखला इलाके की इन इमारतों की हो, उसके बाद बाकी दिल्ली की बारी आती है। मनोज तिवारी ने राम मंदिर का भी पूर्ण समर्थन किया और यह भी कहा कि राम मंदिर के मुद्दे को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने हम हिंदूओं को निराश किया है। सुप्रीम कोर्ट का यह कहना कि राम मंदिर का केस उनकी प्रमुखता की सूची में नहीं आता है, हर हिंदू को बड़ा गम दे गया। यही कारण है कि अब हिंदू अपनी धैर्य खो रहे हैं। मनोज ने यह भी दावा किया कि राम मंदिर के निर्माण की शुरूआत अगले दो-तीन महीने में हो जाएगी। फिर चाहे वह कोर्ट के आदेश से हो या फिर अध्यादेश लाकर। सोनिया गांधी और राहुल गांधी पर छठ पर दिए अपने बयान पर मनोज ने कहा वह अब भी इस बयान पर कायम है। बिहार और पूर्वी उत्तरप्रदेश में माताएं अच्छी संतान के लिए छठ का व्रत करती हैं और उनको लगता है राहुल में समझदारी कम है। इसलिए छठ के मौके पर उन्होंने यह सलाह दी। इतना ही नहीं मनोज ने राहुल गांधी पर और भी कई गंभीर आरोप लगाए और कहा कि उनको राजनीति की समझ नहीं है वरना वह संसद में भी बोलते सिर्फ पब्लिक के बीच नहीं। वह बस आरोप लगा देते हैं पर सबूत देने में नाकामयाब रहते हैं। उनको लगता है भारत की जनता मूर्ख है। वह एक झूठ को सौ बार बोल रहे हैं यह सोचकर कि लोगों को वह सच लगने लगेगा। पर जनता कितनी समझदार है यह राहुल अभी समझ ही नहीं पाए। जनता अपनी समझदारी चुनावों में दिखाएगी। उन्होंने दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल की कार्य पद्धति पर सवाल उठाते हुए कहा कि वह असली मुद्दों को छोड़कर बनावटी मुद्दों पर राजनीति करते हैं।
मनोज तिवारी ने अनेक मुद्दों पर बेहिचक जवाब दिए। देखिए श्री राकेश गुप्ता के साथ ‘प्लस माइनस’ कार्यक्रम, साधना टीवी सहित 15 अन्य चैनलों पर हर सप्ताह प्रसारित होता है।
आम आदमी पार्टी और अरविंद केजरीवाल के पास सिवाय नौंटकी के और कुछ भी नहीं हैं। सिग्नेचर ब्रिज मामले में भी मनोज तिवारी ने वह सच बयान किया जो अब तक लोगों की नजरो से छुपा हुआ था। दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा देने पर मनोज ने कहा कि दिल्ली देश की राजधानी है और केंद्र शासित प्रदेश भी। इसको पूर्ण राज्य बनाकर हम संघीय ढांचे के साथ खिलवाड़ नहीं कर सकते हैं। अगर दिल्ली पूर्ण राज्य बन गया और अरविंद केजरीवाल जैसा कोई मुख्यमंत्री फिर से आ गया तो राजधानी में किसी को घुसने नहीं देगा। तब देश का संघीय ढांचा तहस नहस हो जाएगा। पांच राज्यों में होने विधानसभा चुनाव को लेकर मनोज तिवारी ने दावा किया कि मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ में तो बीजेपी को कोई रोक नहीं सकता है। राजस्थान को लेकर हम असमंजन में थे पर कांग्रेस की प्रत्याशियों की लिस्ट देखकर भरोसा हो गया है कि वहां भी बीजेपी ही जीतेगी। मनोज तिवारी ने यह भी कहा कि जितना काम मोदी सरकार ने 4 साल में किया है उतना पिछले 10 सालों में नहीं हुआ। जनता यूपीए के घोटालों से तंग थी। अब कोई घोटाला नहीं हो रहा है तो बनावटी घोटालों से देश को गुमराह किया जा रहा है। एनडीए के घटक दलों के अलग होने पर मनोज ने कहा कि वह सब मौकापरस्त और ब्लैकमेलर हैं और ऐसे लोगों की एनडीए को जरूरत नहीं है। मनोज ने दावा किया कि एनडीए एकबार फिर से जीतेगी और पिछली बार से ज्यादा सीटों पर जीतेगी। बीजेपी की रणनीति को लेकर, आगामी लोकसभा चुनाव के मुद्दों को लेकर, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कामकाज को लेकर और मोदी सरकार की योजनाओं को लेकर भी मनोज तिवारी ने खुलकर बातचीत की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *