एक्शन का ओवर डोज़ और और दमदार संवाद आदायगी से सजी फिल्म सत्यमेव जयते-2

फिल्म का नाम : सत्यमेव जयते 2
फिल्म के कलाकार : जाॅन अब्राहम, दिव्या कुमार खोसला, हर्ष छाया, अनूप सोनी, गौतमी कपूर, जाकिर हुसैन, दया शंकर पांडे
फिल्म के निर्देशक : मिलाप जावेरी
रेटिंग : 3.5/5

एम्मे एंटरटेनमेन्ट और टी सीरीज़ के बैनर तले बनी एक्शन-ड्रामा फिल्म ‘सत्यमेव जयते-2’ आज से सिनेमाघरों में लग चुकी है। लम्बे समय से अभिनेता जाॅन अब्राहम देशभक्ति फिल्में करने पर पूरा ज़ोर दे रहे हैं, इसमें भी देशभक्ति साफ झलकती है। इस फिल्म में आज के समाज के ऐसे मुद्दों को दिखाया गया है जिससे हम सभी प्रभावित हैं। तो जानते हैं फिल्म कैसी है…..

फिल्म की कहानी :

यह कहानी है सत्य आज़ाद (जाॅन अब्राहम) की और उसके परिवार की। सत्य एक गृहमंत्री है जो कि बहुत ही ईमानदार है और भ्रष्टाचार के खिलाफ है, वो हमेशा-हमेशा के लिए देश से भ्रष्टाचार को मिटाना चाहता है। लेकिन दुविधा यह है कि कुर्सी पर बैठकर वो भ्रष्ट लोगों को उनके किए गए कुकर्मों के लिए सज़ा नहीं दे सकता। वैसे तो सत्य आज़ाद दिल से गांधी जी का सम्मान करता है लेकिन भ्रष्टाचार और भ्रष्टाचारियों को मिटाने के लिए भगत सिंह के विचारों को मानता है इसलिए सत्य एक दूसरा रूप धारण करता है जहां वो भ्रष्टाचारियों को एक-एक करके मौत के घाट उतारता है। जब शहर में कुछ भीषण हत्याएं होने लगती हैं, तो एसीपी जय आजाद (सत्य का जुड़वा भाई) को हत्यारे को पकड़ने के लिए लाया जाता है। जय का अपना अदाज़ है बुरे लोगों को सज़ा देने का…..वो बुरे लोगों को जान से नहीं मारता लेकिन बक्शता भी नहीं है, वो फैसला आॅन द स्पाॅट करता है। सत्य के हर फैसले में उसकी पत्नी(दिव्या खोसला) जो कि एक सोशल वर्कर है उसका साथ देती है। सत्य और जय के पिता एक किसान नेता थे और वो बाकी किसानों के हित कि बातें ही किया करते थे। फिल्म में लोकपाल बिल की भी चर्चा है। फिल्म की कहानी को डिटेल में जानने के लिए आपको फिल्म देखनी पड़ेगी……..

कलाकारों की अदाकारी :

फिल्म में जाॅन अब्राहम मुख्य किरदार में हैं, एक एक्शन हीरो के रूप में जाॅन की जो छवि दर्शकों के दिलों में बनी है उस छवि को इस फिल्म में जाॅन धूमिल नहीं होने देते। जाॅन की फिज़िक और बाॅडी हर युवा को लुभाती है शायद इसलिए उनकी फिज़िक की एक झलक इस फिल्म में दिखाई देती है। जाॅन इस फिल्म में (पिता और जुडवा बेटे) तीनों किरदारों में दिखाई देगें, उनकी अदाकारी काबिले तारिफ है। इस फिल्म में जाॅन आपको बाईक उठाते तो दिखाई देगें ही, साथ ही साथ वो उड़ते हेलीकाॅप्टर को भी जमीन की तरफ खींचते हुए दिखाई देने वाले हैं। टी-सीरीज़ की मालकिन और फिल्म की मुख्य फीमेल किरदार दिव्या खोसला भी अपने किरदार में खूब जमी हैं। फिल्म में दिव्या सोशल एक्टिविस्ट और एक ऐसी पत्नी के रूप में है जो अपने पति के साथ डटकर हमेशा खड़ी रहती है तब भी जब उसके खुदके पिता दोषी होते हैं फिर भी उसका अपने पति के विचारों के साथ कोई मतभेद नहीं है। एक किसान की पत्नी और सूबे के गृहमंत्री व पुलिस अफसर की मां दोनों कालखंडों में गौतमी कपूर ने बहुत अच्छा काम किया है। अनूप सोनी फिल्म में सीनियर पुलिस आॅफिसर के किरदार में है, वैसे तो ज़्यादातर अनूप सोनी को आपने पाॅजिटिव रोल में ही देखा है लेकिन इस फिल्म में वो नेगेटिव रोल में दिखाई दिए हैं। जाकिर हुसैन एक मझे हुए कलाकार हैं जो कि फिल्म में एक करप्ट नेता के रूप में दिखाई देंगे। अन्य सभी कलाकारों ने अपने किरदारों को बड़ी ही खूबसूरती से निभाया है।

कैसी है फिल्म? :

कहते हैं कि फिल्में समाज का आईना होती है और यह सही बात है। फिल्म ने समाज के उन मुद्दों को सामने रखा है जिससे समाज का हर इंसान प्रभावित है, कहने का मतलब है कि भ्रष्टाचार के अलावा फिल्म में किसानों की आत्महत्या, गरीब बच्चों के साथ दुष्टता, महिलाओं के खिलाफ हिंसा, धार्मिक सदभावना की बात है, धार्मिक सहिष्णुता का भी जिक्र है और लोकपाल बिल जैसे गंभीर मुद्दों को दिखाने की कोशिश की गई है। फिल्म के सभी डायलाॅग काफी अच्छे हैं और काफी पसंद आएंगे। फिल्म के एक्शन सीन्स पर काफी काम किया गया है और वो दिखाई भी देता है लेकिन कहीं-कहीं एक्शन काफी ओवर लगता है,……आप कहेंगे कि अरे…ऐसा भी होता है क्या? जैसे – उड़ते हुए हेलीकाॅप्टर को पकड़कर नीचे उतार लेना………..चलती हुई बाईक को बैठे हुए इंसान के साथ उठा लेना। फिल्म में नोरा फतेही का डांस युवाओं को खूब लुभाने वाला है। फिल्म का म्यूज़िक ठीक है। फिल्म में एक जगह साउंडट्रैक सुनकर एक पल के लिए लगता है जैसे बाहुबली का साउंडटैªक बज रहा हो।

फिल्म क्यों देखें? :

यदि आप भी जाॅन के फैन हैं और एक्शन फिल्मों के दिवाने हैं तो फिल्म आपको अच्छी लगेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *