सेमेस्टर परीक्षाओं के पुनर्मूल्यांकन को विशेष समिति बनाए दिल्ली विश्वविद्यालय : एनएसयूआई

नई दिल्ली। भारतीय राष्ट्रीय छात्र संगठन (एनएसयूआई) ने दिल्ली विश्वविद्यालय (डीयू) की सेमेस्टर परीक्षाओं के परिणामों में रहीं विसंगतियों को लेकर विश्वविद्यालय प्रशासन से परीक्षाओं का पुनर्मूल्यांकन करने के लिए विशेष समिति बनाए जाने की मांग की है।
एनएसयूआई के राष्ट्रीय सचिव एवं मीडिया प्रभारी लोकेश चुघ ने रविवार को एक बयान में कहा कि बीते दिनों आये दिल्ली विश्वविद्यालय के सेमेस्टर परिणाम में विसंगतियों का मामला सामने आया है। अंग्रेजी ऑनर्स पाठ्यक्रम के विद्यार्थियों को परीक्षा परिणाम में आश्चर्यजनक रूप से दो सीजीपीए दिया गया है। यह एक या दो विद्यार्थी के साथ नहीं बल्कि सैकड़ों विद्यार्थियों की व्यथा है।
एनएसयूआई ने मांग की है कि दिल्ली विश्वविद्यालय सेमेस्टर परीक्षाओं की कॉपियों का पुनर्मूल्यांकन करे। इसके लिए छात्रों कोई भी अतिरिक्त शुल्क न लिया जाए। साथ ही एक कमेटी बनाई जाए ताकि छात्रों के भविष्य के साथ कोई धोखा न हो। चुघ ने कहा कि दिल्ली विश्वविद्यालय में दूर-दराज के आर्थिक रूप से कमजोर तबके के विद्यार्थी भी पढ़ते हैं। हर बच्चा पुनर्मूल्यांकन की इतनी भारी फीस भरने में असमर्थ होगा। इसलिए विश्वविद्यालय को चाहिए कि वह सभी को समान अवसर देते हुए इसकी फीस ना ले और एक ऐसी पद्धति विकसित करे जिससे विश्वविद्यालय की साख बनी रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *