अपनी तरह के इकलौते प्रतिस्पर्धी कबड्डी टूर्नामेंट “रेडबुल टशन” ने उत्तर में अपना दायरा फैलाया

नोएडा। बेंगलुरु में पिछले साल रेडबुल टशन के पहले कबड्डी टूर्नामेंट को मिले जबर्दस्त रेस्पांस के बाद कबड्डी के विकास को जमीनी स्तर पर बढ़ावा देने की कोशिश में दूसरे कबड्डी टूर्नामेंट का विस्तार देश के अन्य भागों में किया गया है। रेडबुल टशन 2018 पश्चिमी, उत्तरी, दक्षिणी और पूर्वी भारत में व्यक्तिगत स्तर पर टूर्नामेंट का आयोजन कर रहा है। हर टूर्नामेंट में एक रीजनल चैंपियन की घोषणा की जाएगी। इन क्षेत्रीय चैंपियंस को अपने-अपने क्षेत्र की नामित प्रो-कबड्डी लीग टीम के साथ प्रशिक्षण का मौका दिया जाएगा। पश्चिमी क्षेत्र के चैंपियन पुनेरी पलटन, उत्तरी क्षेत्र के चैंपियन दबंग दिल्ली, साउथ के चैंपियन बेंगलुरु हिल्स और पूर्वी क्षेत्र के चैंपियन बंगाल वारियर्स के साथ ट्रेनिंग हासिल करेंगे।
प्रो कबड्डी लीग फ्रेंचाइजी दबंग दिल्ली के सहयोग से आयोजित होने वाले इस टूर्नामेंट का लक्ष्य अपने दायरे का विस्तार करना और जमीनी स्तर पर इस प्राचीन और प्रतिष्ठित भारतीय खेल को और विकसित करना है। नॉकआउट के आधार पर आयोजित इस टूर्नामेंट का अगला क्वॉलिफायर मैच 15 सितंबर को नोएडा में होगा। इस प्रतियोगिता का फाइनल मैच गुरुग्राम में 22 सितंबर को खेला जाएगा। अक्टूबर में प्रो कबड्डी लीग के छठे सीजन से पहले विजेताओं को दबंग दिल्ली की टीम के साथ प्रशिक्षण हासिल करने का सुनहरा मौका मिलेगा।
दबंग दिल्ली के सहयोग से रेडबुल टशन के क्वॉलिफायर्स और फाइनल मैचों का कार्यक्रम इस प्रकार है:-

नोएडा क्वॉलिफायर
तारीख – 15 सितंबर 2018
समय – सुबह 9 बजे से
स्थान – पंचशील बालक इंटर कॉलेज, सेक्टर-91, गौतमबुद्ध नगर, नोएडा, उत्तर प्रदेश।
हर क्वॉलिफायर में विजेता टीम को कबड्डी की यूनिफॉर्म का पूरा सेट और फाइनल में खेलने का निमंत्रण दिया जाएगा।

नॉर्दर्न एडिशन फाइनल्स
तारीख – 22 सितंबर 2018
समय – सुबह 11 बजे से
स्थान -एंबियंस मॉल, गुड़गांव, एनएच-8, एंबियंस आईलैंड, डीएलएफ फेज-3, सेक्टर 24, गुरुग्राम।
यह कबड्डी टूर्नामेंट क्लब और कॉलेज के 16 से लेकर 19 साल की उम्र के खिलाड़ियों के लिए खुला है। रेडबुल टशन ने रणनीति को इन मैचों का मुख्य घटक बनाया है। यह टूर्नामेंट की अवधि प्रो कबड्डी लीग मैच से आधी होगी। प्रो कबड्डी टूर्नामेंट में जहां हरेक हाफ 20 मिनट का होता है। इस टूर्नामेंट में एक हाफ 10 मिनट का होगा और खेल की पूरी अवधि 20 मिनट की होगी। 8 से 15 सितंबर तक इन तीनों शहरों में होने वाले क्वॉलिफायर्स राउंड के बाद 22 सितंबर 2018 को गुड़गांव के एंबियंस मॉल में फाइनल आयोजित किया जाएगा।
दबंग दिल्ली केसी टीम की मालिक और डीओ आईटी स्पोटर्स मैनेजमेंट के संस्थापक और कार्यकारी निदेशक श्रीमती राधा कपूर खन्ना ने इस पहल पर कहा, “प्रो कबड्डी लीग टूर्नामेंट कबड्डी के खेल को लाइमलाइट में लाया है। हम महसूस करते हैं कि इस खेल को जमीनी स्तर पर विकसित करने के लिए पर्याप्त मौके हैं। हमारा दृढ़ता से मानना है कि रेड बुल टशन युवा प्रतिभाओं के लिए अपने टैलेंट और क्षमता का प्रदर्शन के लिए एक शानदार और बेमिसाल प्लेटफॉर्म है। दबंग दिल्ली केसी और रेड बुल कबड्डी के विकास को नए आयाम तक पहुंचाने के लिए एकजुट है। दबंग दिल्ली केसी इस टूर्नामेंट का प्रयोग अपने युवा खिलाड़ियों के लिए स्काउटिंग एक्सरसाइज के रूप में करेगा, जिससे आगामी कबड्डी टूर्नामेंट में इन खिलाड़ियों को प्रोफेशनल खिलाड़ियों के रूप में उभरने का मौका मिल सके। हम आवश्वस्त है कि इस सहयोग से दिल्ली-एनसीआर में कबड्डी के खेल को नई ऊंचाइयों तक पहुंचाने का मौका मिलेगा।“
भारत कबड्डी के महान खिलाड़ियों के विकास का केंद्र रहा है। 2004 से भारतीय कबड्डी टीम ने सभी छह वर्ल्ड कप जीते है। यह इस बात का प्रमाण है कि भारत में कबड्डी के बेहतरीन खिलाड़ी उभरते रहे हैं। भारतीय राष्ट्रीय महिला टीम का भी इस खेल में अच्छा खासा दखल रहा है। अब तक इंडियन नेशनल वुमन कबड्डी टीम ने दो वर्ल्ड कप में हिस्सा लिया है और दोनों में जीत हासिल की है। प्रो कबड्डी लीग के आगमन के साथ कबड्डी के मैचों के दर्शकों की संख्या में बढ़ोतरी हुई है और इस खेल में लोगों की दिलचस्पी भी बढ़ी है। उद्घाटन सत्र में आंखों को लुभाने वाले इस कबड्डी लीग मैच को 435 मिलियन दर्शकों ने देखा और हर सीजन के साथ दर्शकों की यह संख्या दिन पर दिन बढ़ती जा रही है। प्रतियोगिता की लोकप्रियता का आलम यह है कि सीजन 5 के उद्घाटन मैच में दर्शकों की संख्या 50 मिलियन (5 करोड़) से ज्यादा हो गई थी जिसमें टूर्नामेंट के चौथे सीजन के पहले दिन की तुलना में 59 प्रतिशत का उछाल देखने को मिला।

रेड बुल टशन के नियम
– हर टीम में कम से कम 10 और ज्यादा से ज्यादा 12 खिलाड़ी होने चाहिए।
– उम्र की श्रेणी-इसमें 16 से 19 साल के खिलाड़ी भाग ले सकते हैं।
– मैच की अवधि-20 मिनट, मैच 10 मिनट के हाफ में विभाजित होंगे, हाफ के बीच 3 मिनट का इंटरवल भी होगा।
– टीमों को हर हाफ में 30 सेकंड का एक टाइम आउट लेने की अनुमति होगी।
– हर टीम को 20 मिनट के खेल के समय में ज्यादा से ज्यादा 5 खिलाड़ियों को बदलने की अनुमति मिलेगी।
– टॉस जीतने वाली टीम कोर्ट या रेड का विकल्प चुन सकेगी और टॉस हारने वाली टीम के पास बाकी पसंद होगी।
– रेडर को लगातार कबड्डी, कबड्डी बोलना पड़ेगा। अगर वह विपक्षी पाले में लगातार कबड्डी कबड्डी नहीं बोल पाएगा तो विपक्षी टीम उसे अपने पाले से बाहर जाने का आदेश दे सकेगी। इससे विपक्षी टीम को 1 टेक्निकल पॉइंट और दूसरी टीम पर रेड (आक्रमण) करने का मौका मिल जाएगा।
– अगर रेडर बोनस लाइन को क्रॉस कर लेता है तो उसे एक पॉइंट इनाम में दिया जाएगा। फील्ड में कम से कम छह खिलाड़ी होने पर बोनस लाइन का नियम लागू होता है। अगर रेडर को बोनस लाइन पार करने के बाद पकड़ा जाता है तो विपक्षी टीम को एक पॉइंट दिया जाएगा। “ऑलआउट” स्कोर करने वाली साइड को 2 अतिरिक्त पॉइंट्स दिए जाएंगे।
– जब एक रेडर को तीन या तीन से कम खिलाड़ियों द्वारा पकड़ा जाता है तो इसे “सुपरकैच” का नाम दिया जाता है। जब रेडर विपक्षी टीम के 3 या 3 से ज्यादा खिलाड़ियों को छूने में सफल हो जाता है तो इसे “सुपररेड” कहा जाता है और यह रेड सफल हो जाती है। इन दोनों मामले में संबंधित टीम को 1 बोनस पॉइंट दिया जाता है।
– कोई भी लगातार रेड खाली नहीं जा सकती।
– यदि मैच 20 मिनट चलने के बाद टाई हो जाता है तो गोल्डन रेड कराई जाएगी। इसमें दोनों टीमों में टॉस कराया जाएगा और जो टीम टॉस जीतेगी, वह टीम सबसे पहले रेड करेगी। विपक्षी टीम के सभी सातों खिलाड़ी फील्ड पर रहेंगे। अगर पहली गोल्डन रेड के बाद भी मैच टाई होता है तो विपक्षी टीम को गोल्डन रेड का मौका दिया जाएगा। अगर इसके बाद भी मैच टाई ही रहता है तो विजेता का फैसला टॉस से किया जाएगा।
पिछले साल बेंगलुरु में रेड बुल टशन के उद्घाटन मैच में विजेता एचएमटी कॉलोनी बॉयज और क्लासिक नेशनल ने फाइनल मैच में अपना बेहतरीन खेल दिखाया था। इससे उन्हें वीवो प्रो कबड्डी लीग का पांचवा सीजन शुरू होने से पहले बेंगलुरु बुल्स टीम के साथ प्रशिक्षण हासिल करने का मौका मिला। रेड बुल टशन के पहले सीजन में एचएमटी कॉलोनी बॉयज एक करीबी मुकाबले में क्लासिक नेशनल्स को 2 प्वाइंट्स से हराकर विजेता के रूप में उभरे। इस जीत के साथ रेड बुल टशन के विजेता एचएमटी कॉलोनी बॉयज को 5 से 10 जुलाई तक चेन्नई के वन वर्ल्ड में अपने रोल मॉडल बेंगलुरु बुल्स की टीम के साथ ट्रेनिंग हासिल करने का मौका मिला।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *