डी.सी. अभिषेक सिंह ने प्रवासी श्रमिकों को फिर से काम दिलाने में मदद करने हेतु छात्रों को किया एकजुट, जॉन अब्राहम ने रखी वालंटियर करने की पेशकश

भारतीय प्रशासनिक सेवा (IAS) के अधिकारी अभिषेक सिंह, जो वर्तमान में दिल्ली में उपायुक्त के रूप में तैनात हैं, उन्होंने हाल ही में लोकप्रिय अभिनेत्री दीपिका सिंह और उनकी माँ को इस महामारी की स्थिति के दौरान समय पर अस्पताल में एंट्री सुनिश्चित करके मदद की थी। जबकि वह नेटफ्लिक्स की क्राइम ड्रामा दिल्ली क्राइम के दूसरे सीजन के साथ अपने अभिनय की शुरुआत करने के लिए पूरी तरह से तैयार है, उन्होंने इस बार ‘SIGMA’ (स्टूडेंट्स फॉर इन्वॉल्व्ड गवर्नेंस और म्यूचुअल एक्शन) नामक एक संगठन की शुरुआत करते हुए एक बार फिर मिसाल कायम की है।
सिग्मा एक प्रकार का एक अभिनव, स्वतंत्र और स्वैच्छिक छात्र-चालित ‘थिंक टैंक’ है। इसे आईआईएम अहमदाबाद के छात्रों के एक ग्रुप द्वारा आईएएस अधिकारी, श्री अभिषेक सिंह और सुश्री दुर्गा शक्ति नागपाल के साथ शुरू किया गया था। वर्तमान में, इसमें भारत के प्रमुख संस्थानों जैसे कि आईआईएम बैंगलोर, आईआईएम कलकत्ता, आईआईटी बॉम्बे, आईआईटी दिल्ली, सेंट स्टीफन कॉलेज और टाटा इंस्टीट्यूट ऑफ सोशल साइंसेज, मुंबई के सदस्य हैं। उनका प्रमुख लक्ष्य प्रभावी और नवीन प्रशासन के लिए भारत के छात्रों के नए परिप्रेक्ष्य का लाभ उठाने के लिए एक मंच बनाना है।
वर्तमान परियोजना ‘सिग्मा’ प्रवासी श्रमिकों के कल्याण में काम कर रही है। सिग्मा ने हाल ही में दिल्ली एनसीआर में श्रमिकों और नियोक्ताओं के लिए एकात्रा हेल्पलाइन नंबर शुरू किया है, जिसका उद्देश्य श्रम मांग-आपूर्ति के बेमेल को हल करना है, जो कि पोस्ट लॉकडाउन में एक प्रमुख मुद्दा रहा है।
‘सिग्मा’ एम्प्लॉयर के ग्रुप तक पहुंचा है, जो मुख्य रूप से दिल्ली-एनसीआर में विनिर्माण और निर्माण क्षेत्र से लेबर की मांग और उनके संबंधित उद्योगों में उनकी आपूर्ति की दिशा में काम करेगा। इन नियोक्ताओं के पास अकेले मजदूरों के लिए 2500 से अधिक रिक्तियां हैं, जिन्हें उन्होंने कौशल आवश्यकताओं, उद्योग और मांग के आधार पर प्रलेखित और वर्गीकृत किया है। एकात्रा हेल्पलाइन नंबर श्रमिकों, ठेकेदारों और नियोक्ताओं को समान रूप से अपनी आवश्यकताओं के साथ सिग्मा तक पहुंचने में मदद मिलेगी। दिल्ली-एनसीआर और नौकरी की पेशकश करने वाले एम्प्लॉयर के लिए नौकरी के अवसरों की तलाश करने वाले श्रमिक अपने हितों, जरूरतों और अन्य चिंताओं के साथ 8800883323 पर सिग्मा तक पहुंच सकते हैं। यह संख्या सप्ताह के सभी 7 दिनों में सुबह 10 बजे से शाम 7 बजे तक चालू रहेगी। फोन कॉल लेने वाले छात्र वालंटियर, मांग की सुविधा के लिए इच्छुक पार्टियों की आवश्यकताओं पर ध्यान देंगे।
सिर्फ इतना ही नहीं, हेल्पलाइन नंबर के लॉन्च के दौरान लोकप्रिय और प्रतिभाशाली अभिनेता जॉन अब्राहम ने आईएएस अधिकारी अभिषेक सिंह के साथ बातचीत करते हुए, अभिनेता ने जब भी आवश्यक हो, वालंटियर करने का प्रस्ताव दिया है। पहल पर अपने विचार साझा करते हुए, अभिषेक सिंह कहते है, “महामारी ने हमारे समाज, विशेष रूप से निचले तबके में बहुत सारे वर्गों को प्रभावित किया है। कई प्रसिद्ध कॉलेजों के छात्रों की मदद से इस पहल के जरिये स्थानीय श्रमिकों के साथ-साथ प्रवासी श्रमिकों को रोजगार आसानी से मिल सकेगी। मुझे उम्मीद है कि हमें वह हासिल होगा जो हमने लक्ष्य रखा है और हम अपने समर्थन को अपने देश के विभिन्न शहरों में आगे बढ़ा सकते हैं।’’
ऐसी सराहनीय पहल शुरू करने के लिए अभिषेक सिंह को सलाम है!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *