वामदलों ने राफेल मामले में अदालत के फैसले का स्वागत किया

नई दिल्ली। वामदल माकपा और भाकपा ने राफेल मामले की न्यायिक जाँच करने की माँग स्वीकार करने के उच्चतम न्यायालय के फैसले का स्वागत करते हुए कहा कि मोदी सरकार ने देश की सुरक्षा से जो समझौते किए हैं उनका सच अब सामने आएगा। माकपा के महासचिव सीताराम येचुरी ने बुधवार को कहा, “मोदी सरकार ने देश के अहम रक्षा सौदे में भ्रष्टाचार कर देश की सुरक्षा से समझौता किया। अब अदालती जाँच से सच सामने आएगा।” येचुरी ने कहा कि इस मामले में संयुक्त संसदीय समिति गठित नहीं करके और कैग से राफेल की कीमत छुपाकर मोदी सरकार ने पहले देश को गुमराह किया फिर उच्चतम न्यायालय में सुनवाई को बाधित करने की कोशिश की। उन्होंने मोदी सरकार पर इस मामले में अदालत से ‘क्लीन चिट’ मिलने का गलत दावा करने का आरोप लगाते हुए कहा, “मोदी और उनकी सरकार अपनी जिम्मेदारी से बचने की लगातार कोशिश कर रही थी। इसलिए अदालत का यह फैसला महत्वपूर्ण है क्योंकि अब इस मामले के दोषियों के चेहरे सामने आ सकेंगे।” भाकपा के राष्ट्रीय सचिव अतुल कुमार अनजान ने भी न्यायलय के आदेश पर खुशी जाहिर करते हुए कहा कि, “राफेल मामले में उच्चतम न्यायालय ने मोदी सरकार की कलई खोल दी है।’’ अनजान ने कहा कि राफेल मामले से मोदी सरकार के भ्रष्टाचार की कहानी परत दर परत खुल रही है। उन्होंने कहा कि अदालत ने भारत सरकार की दलील को खारिज कर दिया है राफेल मामले में न्यायालय के सामने पेश किए गए कागजात चोरी हो गए हैं। इससे स्पष्ट हो गया है कि मोदी सरकार ने राफेल विमान की खरीद में गड़बड़ी की थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *