एम्बेसी ग्रुप ने घुड़सवारी में पदक हासिल किया

राष्ट्रीय। जकार्ता में एशियाई खेलों में एम्बेसी इंटरनेशनल राइडिंग स्कूल (ईआईआरएस) के राइडर फौआद मिर्जा ने भारत के लिए रजत पदक हासिल किया। यह शानदार प्रदर्शन भारत के लिए गर्व का क्षण रहा। भारत के फौआद मिर्जा ने 22.40 के स्कोर के साथ ड्रेसेज और क्रॉस-कंट्री क्वालीफायर में शीर्ष स्थान प्राप्त किया और भारत के लिए रजत पदक हासिल करने के लिए मेडल राउंड में 26.40 का स्कोर बनाया।
भारतीय घुड़दौड़ टीम में राकेश कुमार, आशीष मलिक, जितेन्दर सिंह और फौआद मिर्जा शामिल थे। इस टीम ने 126.70 के स्कोर के साथ भारतीय टीम के लिए रजत जीता। फौआद के उत्कृष्ट प्रदर्शन ने भारतीय टीम की रैंकिंग में मदद की, जिसके कारण भारत के लिए एक और रजत पदक मिलना संभव होपाया।
अपनी जीत पर बोलते हुए, फौआद मिर्जा ने कहा कि’ हमारी जीत भारत के लिए गौरव का क्षण है। मैं बहुत भाग्यशाली हूं कि देश के लिए दो रजत पदक लाने में सेगन्योर मेडिकॉट जैसे घोड़े और अपनी को-राइडर टीम के साथ मैंने साझेदारी की है। मैं एम्बेसी समूह का आभारी हूं। श्री विरवानी और उनकी टीम के सहयोग के बिना यह जीत भारत के घुड़सवारी खेल के लिए केवल एक सपना भर रह जाती। मैं भविष्य में भारत के लिए और अधिक जीत और पदकों की उम्मीद कर रहा हूं।‘
एशियाई खेलों में फौआद की जीत और योगदान को स्वीकार करते हुए, एम्बेसी समूह के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक श्री जीतू वीरवानी ने कहा कि’यह भारत में घुड़सवारी खेल के लिए बहुत गौरवपूर्ण क्षण है। फौआद ने एशियाई खेलों में घुड़सवारी के सभी कार्यक्रमों में आदर्श प्रदर्शन किया है। हमविदेशों में एक छोटी अवधि के भीतर प्रशिक्षण देने और इस मुकाम तक पहुंचने के लिए, सेना के तीन राइडरों द्वारा की गई कड़ी मेहनत के लिए धन्यवाद देते हैं, जिससे भारत के लिए एक और रजत पदक हासिल करना संभव हुआ। यह जीत इस खेल की वास्तविक संभावना, और हमारे देश की प्रतिभा को दर्शाती है। यह जीत बताती है कि अगर भारतीय खेल को बेहतर तरीके से व्यवस्थित किया जाता है तो हम कई और पदक जीत सकते हैं।‘

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *