दिल्ली में मनाया गया 49 वां सी.आई.एस.एफ दिवस

नई दिल्ली। वर्ष 1968 में संसद द्वारा सी.आई.एस.एफ एक्ट पारित किया गया एवं वर्ष 1969 में यह बल सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों को सुरक्षा कवच प्रदान करने के लिए विशेष रूप से प्रशिक्षित बल के रूप में अस्तित्व में आया। आज सी.आई.एस.एफ केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों में अपनी कार्यक्षमता एवं कार्यकुशलता से एक जाना-पहचाना नाम बन गया है एवं देश के विकास में योगदान दे रहे महत्वपूर्ण संस्थानों को सफलतापूवर्क सुरक्षा प्रदान कर रहा है। सी.आई.एस.एफ में अपनी शुरुआत मात्र 3129 की छोटी की संख्या के साथ की और यह बल आज अपनी विश्वसनीयता और कार्यदक्षता में गुणात्मक वृद्धि कर 1,54,000 की संख्या वाला एक सशस्त्र केंद्रीय पुलिस बल के रूप में स्थापित है। वर्तमान समय मे सी.आई.एस.एफ देश के 341 विभिन्न महत्वपूर्ण एवं संवेदनशील इकाईयों को सुरक्षा प्रदान कर रहा है। सी.आई.एस.एफ के सुरक्षा कवच में परमाणु एवं अतंरिक्ष संस्थान अंतर्राष्ट्रीय एवं राष्ट्रीय प्रमुख हवाई अड्डे, समुद्री बन्दरगाह बिजली उत्पादन के परमुख क्षेत्रों इस्पात कोयला अन्य खनन के क्षेत्र एवं तेल के प्रतिष्ठान दिल्ली मेट्रो सरकारी भवनों, संग्रहलायों, ऐतिहासिक विरासत के स्मारकों जैसे ताज महल, लाल किला इत्यादि है। सी.आई.एस.एफ देश के दुर्गम क्षेत्रों जैसे जम्मू-कश्मीर सुदूर उत्तर-पूर्व नक्सल प्रभावित आदि क्षेत्रों में भी तैनात है। सी.आई.एस.एफ का स्पेशल सिक्योरिटी ग्रुप ( एस.एस.जी ) वर्तमान में 72 विभिन्न श्रेणियों के विशिष्ट व्यक्तियों को सुरक्षा प्रदान कर रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *